स्वास्थ्य

ऐवकाडो से टाइप टु डायबिटीज करे कंट्रोल

ऐवकाडो एक ऐसा फल है, जिसके प्रति पिछले कुछ वर्षों में लोगो के बीच बहुत आकर्षण बढ़ा है। इसका कारण है इस फल की खूबियां। ऐवकाडो मोटापे को कंट्रोल करने से लेकर टाइप टु डायबिटीज से बचाने तक में मददगार है। ऐसे में कई तरह की हेल्थ डाइट में ऐवकाडो का शामिल होना हैरान नहीं करता है। आइए, जानते हैं कि ऐवकाडो किस तरह डायबिटीज की रोकथाम के लिए काम करता है…

-Type 2 Diabetes एक ऐसी बीमारी है, जो प्रभावित लोगों के शरीर में ब्लड में ग्लूकोज की मात्रा को प्रभावित करती है। इस बीमारी की चपेट में आने के बाद रोगी के ब्लड में शुगर की मात्रा बढ़ने लगती है। इस बीमारी से बचने का एक अच्छा तरीका यह है कि हम अपने खान-पान पर पूरा ध्यान दें।

-साबुत अनाज, हरी सब्जियां और ब्राउन राइज के अलावा ओटमील, नट्स और सीड्स भी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने का काम करते हैं। रेशेदार फलों का सेवन आपको करते रहना चाहिए। वैसे कई रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी है कि टाइप टु डायबिटीज से बचने के लिए और यह बीमारी होने के बाद पर कंट्रोल रखने में ऐवकाडो बहुत मददगार है। एक ऐवकाडो को हर रोज नाश्ते में खाने से आपको भरपूर एनर्जी मिलती है, भूख मिट जाती है और फैट बढ़ने का खतरा भी नहीं रहता है।

-ऐवकाडो में कार्ब्स में मात्रा काफी कम होती है। इस कारण इसे खाने के बाद ब्लड शुगर लेवल में इजाफा नहीं होता है। इसे खाने के बाद आपको लंबे समय तक पेट भरा-भरा फील होता है, इससे आप जरूरत से अधिक खाना नहीं खाते हैं और आपको पोषण भी पूरा मिलता है। इसमें फाइबर्स भी भरपूर मात्रा में उपलब्ध रहते हैं।

-ऐवकाडो हाई पोटेशियम फूड है। यह हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत अधिक फायदेमंद रहता है। इसमें मौजूद पोटेशियम शरीर में अधिक सोडियम के कारण होनेवाले प्रभावों को रोकता है और ब्लड प्रेशर घटाता है।

-ऐवकाडो बढ़ते हुए कोलेस्ट्रोल को कंट्रोल करने में मदद करता है। ब्लड प्रेशर और शुगर लेवल को कंट्रोल करने की खूबियां ही ऐवकाडो को एक बेहद खास फल बनाती हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close