स्वास्थ्य

गोरी दमकती त्वचा चाहिए तो चेहरे पर लगाएं ये खास उबटन

 

दिवाली की साफ-सफाई लगभग अब हर घर में महिलाएं पूरी कर चुकी होंगी। ऐसे में अब बारी है चेहरे को निखारकर आने वाले त्योहारों में सबसे खूबसूरत और अलग दिखने की। हिंदू धर्म में रूप चौदस का दिन महिलाओं के लिए बेहद खास माना जाता है। यह दिन महिलाओं के लिए खुद को निखारने का समय होता है। अगर आप भी इस रूप चौदस चांद जैसी बेदाग दमकती त्वचा पाना चाहती हैं तो अपने चेहरे पर लगाएं हल्दी से बना ये खास उबटन। रूप-चौदस के दिन सूरज उगने से पहले सुबह उठकर ठंडे पानी से नहाने के बाद हल्दी का उबटन लगाने की परंपरा काफी प्रचलित है। यह उबटन आपके चेहरे के निखार को दोगुना कर देता है। तो आइए देर किस बात की जानते हैं क्या है इस उबटन को बनाने का सही तरीका।

सामग्री-
बेसन – 2 चम्मच
हल्दी – 2 चम्मच
चन्दन पाउडर – 1 चम्मच
मसूर दाल का पाउडर – 1 चम्मच (मिलाना चाहे तो)
दूध या गुलाबजल – 2 चम्मच (या जितना पेस्ट बनाने में लगे)
आधे नींबू का रस (मिलाना चाहे तो)

हल्दी का उबटन बनाने का तरीका-
हल्दी के इस उबटन को बनाने के लिए सबसे पहले सभी चीजों को एक कटोरी में अच्छे से मिला लें। इसके बाद इसमें दूध (अगर आपकी रूखी स्किन है तो) या गुलाबजल (ऑयली स्किन के लिए) डालकर उसका पेस्ट बना लें। यह पेस्ट गाढ़ा होना चाहिए। अगर स्किन ज्यादा ड्राई है तो आप इसमें फ्रेश मलाई का भी उपयोग कर सकते हैं।

इस पेस्ट को बनाते समय आप अपनी जरूरत के अनुसार इसमें कुछ बदलाव भी कर सकती हैं जैसे-गोरी दमकती त्वचा के लिए पेस्ट बनाते समय हल्दी की मात्रा ज्यादा कर लें, चेहरे के बाल निकालने हों तो मसूर दाल पाउडर और बेसन की मात्रा को बढ़ा दें। सभी चीजें अच्छे से मिलते ही आपका जादुई 'उबटन' बिल्कुल तैयार हो चुका है। आइए अब जानते हैं क्या है इसके लगाने का सही तरीका।

कैसे लगाएं-
हल्दी के इस तैयार उबटन को चेहरे और गर्दन पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने पर इस फेस मास्क को हाथों में दूध लेकर हल्के हाथों से मसाज करते हुए छुड़ा लें। थोड़ी देर बाद चेहरे को पानी से धो लें ।  

चेहरे से अनचाहे बालों की कर देता है छुट्टी –
इस उबटन का नियमित इस्तेमाल करने से चेहरे के अनचाहे बालों से भी छुटकारा मिलता है। इसके नियमित इस्तेमाल से चेहरे के बाल धीरे-धीरे पतले और फिर बिल्कुल गायब हो जाते हैं। इस मास्क को हफ्ते में दो बार लगाने से बेहतर परिणाम मिलते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close