उत्तर प्रदेश

टेरर फंडिंग: ATS ने नाइजीरियन सहित 3 दबोचे

लखनऊ
यूपी एटीएस ने लखीमपुर से जुड़े अंतरराष्ट्रीय टेरर फंडिंग नेटवर्क मामले में एक नाइजीरियाई समेत तीन आरोपितों को मुंबई से गिरफ्तार किया है। इनमें से एक ने नेपाल बैंक का सिस्टम हैक करके लाखों की रकम ट्रांस्फर की थी। एडीजी एटीएस ध्रुवकांत ठाकुर ने बताया कि टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार सिराजुद्दीन व पांच अन्य आरोपितों से पूछताछ में अहम सुराग मिले थे। उसी आधार पर यूपी एटीएस ने बुधवार को नाइजीरिया निवासी चिनवेउबा एमेका माइकल और गुरुवार को भारतीय मूल के नाइजीरियाई पीटर हरमन अस्सेंगा और अर्जुन अशोक को मुंबई से गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से पास से 3 लैपटॉप, 4 मोबाइल फोन, 13 भारतीय व एक विदेशी सिम कार्ड, 13 डोंगल, 2 पेन ड्राइव, 3 राउटर, एक नाइजीरियाई पासपोर्ट, पासपोर्ट की फोटोकॉपी और 2 नाइजीरियाई पहचानपत्र बरामद हुए हैं।

एटीएस की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि भारतीय मूल के नाइजीरियाई पीटर हरमन अस्सेंगा ने ही नेपाल के जनकपुर स्थित राष्ट्र बैंक के सिस्टम को हैक कर 49 लाख रुपये अपने करीबियों के खातों में ट्रांसफर किए थे। इस रकम को ही बाद में भारतीय मुद्रा में बदलवाकर बरेली में सिराजुद्दीन व फहीम तक पहुंचाया गया था। वहां से यह रकम सिराजुद्दीन ने दिल्ली में बैठे नाइजीरियन चिनवेउबा एमेका माइकल को पहुंचाई थी।

करोड़ों ट्रांसफर किए माइकल व पीटर ने
एटीएस के मुताबिक माइकल और पीटर ने एक-एक ट्रांजेक्शन में 10-10 करोड़ रुपये तक दूसरे बैंक खातों में ट्रांसफर किए हैं। एक बार तो ढाई लाख अमेरिकी डॉलर भी ट्रांसफर किए गए। एटीएस उन खातों के बारे में जानकारी जुटा रही है, जिनमें इतनी बड़ी रकम ट्रांसफर की गईं। यहीं से पता चलेगा कि आगे की मनी ट्रेल क्या है? और कहां तक जाती है। एटीएस नेटवर्क का पाकिस्तानी कनेक्शन भी खंगाल रही है।

शुक्रवार को लाए जाएंगे लखनऊ
मुंबई से गिरफ्तार तीनों आरोपितों को यूपी एटीएस शुक्रवार देर रात लखनऊ ला सकती है। न्यायिक प्रक्रिया में देर लगी तो शनिवार भी हो सकता है। इससे पहले यूपी एटीएस ने टेरर फंडिंग मामले में लखीमपुर और बरेली से 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि एक आरोपित मुमताज ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। इन 3 गिरफ्तारियों को मिलाकर अब तक कुल 10 गिरफ्तारी हो चुकी हैं।

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close