बिहार

 पटाखे की दुकानों का लाइसेंस 600 लेकिन 6 हजार दुकानों पर बिक्री

पटना  
पटना शहर में मात्र 591 दुकानों को ही पटाखों की बिक्री के लिए प्रशासन ने लाइसेंस दिया है लेकिन छह हजार से भी अधिक दुकानों पर इसकी बिक्री हो रही है। डीएम कुमार रवि ने पटना जिले के सभी एसडीओ को निर्देश दिया था कि टीम बनाकर छापामारी करें लेकिन पटना सिटी को छोड कोई अधिकारी अवैध पटाखों की बिक्री न हो इसके लिए ठोस कदम नहीं उठा पाया। हालात ऐसी हुई कि शुक्रवार से ही पटना के लगभग सभी बडे छोटे बाजार में पटाखों की बिक्री खूब हो रही है। 

पटना में 591 दुकानों पर ही पटाखा बेचने के लिए इस बार प्रशसन ने अनुमति प्रदान की है। सबसे अधिक पटना सिटी में दुकानों को पटााखा बेचने के लिए अनुमति दी गई है। अकेले पटना सिटी अनुमंडल में ही चार हजार से अधिक दुकानों पर पटाखों की बिक्री हो रही है। इसी प्रकार पटना सदर अनुमंडल में भी दो हजार से अधिक दुकानों पर पटाखों की बिक्री हो रही है। 

इसी प्रकार दानापुर अनुमंडल में भी अवैध तरीके से पटाखों की बिक्री हो रही है। एडीएम विधि व्यवस्था डा कन्हैया प्रसाद सिंह ने बताया कि एसडीओ की जिममेदारी है कि वे अपने अपने क्षेत्र में पटाखों की बिक्री के लिए ठोस प्रबंध करें। एडीएम सामान्य  प्रशासन का कहना है कि दो चरणों में लाइसेंस दिया गया। ज्यादातर पुराने दुकानदार ही आवेदन दिए हैं। 

पहले चरण में 187 तथा दूसरे चरण में 404 दुकानदारों ने लाइसेंस के लिए आवेदन दिया था। पहले चरण के दुकानदारों का लाइसेंस तो निर्गत कर दिया गया है लेकिन दूसरे चरण के आवेदन को डीएम साहब के अनुमोदन के लिए भेज दिया गया है। इधर राजाबाजार, रेलवे स्टेशन, बेली रोड, कंकडबाग, राजेंद्रनगर, अनिसाबाद, डाकबंगला, हथुआ मार्केट, अशोकराजपथ, बहादुरपुर, बाइपास, फुलवारीशरीफ आदि में अवैध तरीके से पटाखों की बिक्री हो रही है। तेज आवाज करने वाले भी पटाखे इस  बार बाजार में बेचा जा रहा है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close