मध्य प्रदेश

आरजीपीवी देगा बीस पीएचडी की स्कालरशिप, बीयू कुलपति दें पाएंगे 15 फीसदी उपस्थति में रियायत

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय और बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के पीएचडी को बढ़ावा देने के लिए कार्य कर रहे हैं। आरजीपीवी बीयू पीएचडी शोधार्थी को स्कालरशिप देगा। वहीं बीयू कुलपति कोर्सवर्क में 15 फीसदी उपस्थिति में रियायत दे पाएंगे। ये दोनों निर्णय दोनो विवि की एकेडमिक काउंसिल की बैठक में लिए गए हैं।

आरजीपीवी साल में दो बार पीएचडी प्रवेश परीक्षा आयोजित कराता है। इसमें परीक्षा और साक्षात्कार में मेरिट स्थान हासिल करनेवाले बीस विद्यार्थियों को स्कालरशिप देने का निर्णय लिया गया है। इसमें शोधार्थी को आरजीपीवी कैंपस में रहते हुए पीएचडी करना होगी। दस विभाग दो-दो विद्यार्थियों का चयन कर स्कालरशिप के लिए अग्रेषित करेंगे। इसके अलावा एकेडमिक काउंसिल की बैठक में वोकेशन कोर्स के लिए आधा दर्जन कालेजों को संबद्धता जारी की गईहै।

अब होगी कोर्सवर्क का एग्जाम
बीयू की एकेडमिक काउंसिल की बैठक में 2017 परीक्षा में शामिल हुए विद्यार्थियों को कोर्सवर्क की उपस्थिति 15 फीसदी में रियायत देने का अधिकार कुलपति आरजे राव को दिया गया है। कोर्सवर्क की कक्षाओं में काफी विद्यार्थियों की अनिवार्य 75 फीसदी उपस्थिति कम है। इसलिए कोर्सवर्क की परीक्षा में शामिल होने की पात्रताा नहीं रखते हैं। बैठक में साठ फीसदी तक वाले विद्यार्थियों को परीक्षा में शामिल करने के लिए कुलपति राव अनुमति देंगे। अब अभी तक रुकी हुई परीक्षा नवंबर के प्रथम सप्ताह में आयोजित की जाएगी। इसके अलावा आधा दर्जन कालेज को सरकारी कालेजों को अनालाइन आवेदन नहीं करने पर संबद्धता को जारी किया गया है।

वर्जन
पीएचडी को बढ़ावा देने के लिए बीस विद्यार्थियों को स्कालरशिप देने का निर्णय लिया गया है। इसमें विद्यार्थियों का कैंपस में रहना अनिवार्य होगा।
डॉ. सुनील कुमार गुप्ता
कुलपति, आरजीपीवी

Related Articles

Back to top button
Close
Close