खेल

ओलंपिक क्वॉलिफायर्स के लिए अमेरिकी हॉकी टीम पहुंची भारत

भुवनेश्वर
भारत के खिलाफ ओलंपिक क्वॉलिफायर्स मुकाबला खेलने अमेरिका की महिला हॉकी टीम भारत पहुंच गयी है। यह मुकाबला एक और दो नवम्बर को भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेला जाएगा। अमेरिकी टीम इस मुकबले के लिए भुवनेश्वर पहुंच गयी है। अमेरिकी टीम की कप्तान कैथलीन शार्की,  ने भारत में एक बड़ा इवेंट खेलने पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि भारत में खेलना रोमांचक है। इस टीम में कोई भी खिलाड़ी पहले कभी भारत में नहीं खेली है जिसका हॉकी में समृद्ध इतिहास है। हमें ओलंपिक क्वॉलिफायर्स का बेताबी से इन्तजार है।

भारतीय टीम का आखिरी बार अमेरिका से मुकाबला 2018 के महिला विश्व कप में हुआ था जहां भारत ने 1-1 का ड्रॉ खेला था। ओलंपिक क्वॉलिफायर्स में दो मैच होंगे, जिसमें अंकों के आधार पर फैसला होगा कि कौन सी टीम अगले साल टोक्यो ओलंपिक में खेलेगी।

बता दें कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम को टोक्यो ओलंपिक क्वॉलिफायर के अंतिम दौर में आसान ड्रॉ मिला है, जहां उसे कम रैंकिंग वाली रूस की टीम से भिड़ना है जबकि महिला टीम को अमेरिका के रूप में कड़ा प्रतिद्वंद्वी मिला है। टोक्यो खेलों में जगह बनाने के लिए टीमों के बीच लगातार दो मैच होंगे। भारतीय पुरुष टीम एक और दो नवंबर को रूस से खेलेगी जबकि महिला टीम दो और तीन नवंबर को भुवनेश्वर में अमेरिका से भिड़ेगी।

आठ बार के ओलंपिक चैंपियन भारत की एफआईएच विश्व रैंकिंग पांच जबकि रूस की 22 है। इसी साल भुवनेश्वर में एफआईएच सीरीज फाइनल के दौरान भी भारत ने रूस को 10-0 से हराया था। अमेरिकी महिला टीम की रैंकिंग 13 जबकि भारतीय महिला टीम की रैंकिंग नौ है, लेकिन रानी रामपाल की अगुआई वाली टीम के लिए यह मुकाबला आसान नहीं होगा।

पुरुष वर्ग के अन्य क्वॉलिफायर मैचों में नीदरलैंड का सामना पाकिस्तान, ग्रेट ब्रिटेन का मलेशिया, स्पेन का फ्रांस से सामना होगा जबकि न्यूजीलैंड को कोरिया और कनाडा को आयरलैंड से भिड़ना है। जर्मनी को इस क्वॉलिफायर में आस्ट्रिया की चुनौती से पार पाना होगा।

महिला वर्ग में ऑस्ट्रेलिया का सामना रूस से होगा जबकि जर्मनी को इटली, ग्रेट ब्रिटेन को चिली, स्पेन को कोरिया, आयरलैंड को कनाडा और चीन को बेल्जियम से भिड़ना है।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close