मध्य प्रदेश

स्मार्ट सिटी: कटेगें नहीं शिफ्ट होंगे एबीडी एरिया के पेड़

भोपाल
भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अंतर्गत आने वाले 342 एकड़ एबीडी एरिया में लगे पेड़ों को काटे बिना विकास होगा और स्मार्ट सिटी बनेगी। एबीडी एरिया के पेड़ों को भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी शिफ्ट करेगी। इसके लिए टेंडर जारी कर दिये गये है। इसमें विशेषज्ञों की सहायता से पेड़ों को एक साल की अवधि में शिफ्ट किया जाएगा। पहले फेस में करीब 300 पेड़ों को शिफ्ट करने का लक्ष्य रखा गया है। उन पेड़ों को पहले फेस में शिफ्ट किया जाएगा जो बड़े व पुराने है। इन पेड़ों की शिफ्टिंग से पहले स्वाईल टेस्टिंग (मिट्टी की जांच) की जाएगी। स्वाईल टेस्टिंग उन स्थानों पर होगी जहां से पेड़ निकाले जाना है व जहां इसे शिफ्ट किया जाना है। शिफ्टिंग पूरी तरह वैज्ञानिक तरीके से होगी, ताकि पेड़ को नुकसान न पहुंचे। सुपरवाईजरों की देख-रेख में पेड़ों की सुरक्षित लोडिंग व ट्रांस्पोर्टेशन किया जाएगा। पेड़ों के लिए फिडिंग कि भी प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

छह माह तक देख-रेख करेगा कांट्रेक्टर
जिस कंपनी या एजेंसी को पेड़ों की शिफ्टिंग का कार्य सौंपा जाएगा उस कंपनी या एजेंसी का अगले छ: माह तक पेड़ों की देख-रेख करना होगी, पानी देना होगा, खाद डालना होगी, मिट्टी की नमी जांचना होगी और समय-समय पर इंसेक्टिसाइट्स का इस्तेमाल करना होगा।

कलियासोत नदी के किनारे एवं अन्य क्षेत्रों में शिफ्ट होगें पेड़
कलियासोत नदी के किनारे, बैरागढ़ के आसपास व शहर के अन्य स्थानों पर शिफ्ट किया जाएगा। इसके लिए वैज्ञानिक तरीके से पेड़ों की शिफ्टिंग होगी। पेड़ों को आॅर्गेनिक्स(खाद व फर्टिलाईजर) तब तक दिया जाएगा जब तक कि पेड़ों की जड़ें पुन: विकसित न हो जाए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close