जरा हटके

दुनिया खत्म होने के इंतजार में नौ साल से तहखाने में छुपा हुआ था ये परिवार, ऐसे पता चली सच्चाई

2012 में दुनिया के खात्मे की भविष्यवाणी बहुत प्रचलित हुई थी। कई लोगों ने दुनिया के अंत की बात को सच भी मान लिया था और इससे निपटने और जिंदा रहने के तरीकों के बारे में भी सोचने लगे थे। लेकिन अंत में दुनिया का खात्मा नहीं हुआ और लोगों को इस बात का आभास हुआ कि भविष्यवाणी गलत थी। इसके बावजूद कुछ लोग ऐसे भी थे जिनके अनुसार कयामत का दिन कभी भी आ सकता है और उन्हें इसके लिए तैयार रहना है। इसी सोच के साथ जहां कुछ लोगों ने एहतियातन कुछ छोटी-मोटी तैयारियां कीं, वहीं दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्होंने सारी हदें पार कर दीं। ऐसे ही एक परिवार ने कयामत का इंतजार करते-करते नौ साल तहखाने में बिता दिए।

घटना नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम से 140 किलोमीटर उत्तर-पूर्व की ओर ड्रेन्थ प्रांत के रुइनरवर्ल्ड गांव स्थित फार्महाउस की है। इस फार्महाउस के तहखाने में एक डच परिवार नौ साल से कयामत का इंतजार कर रहा था। इस परिवार में 58 साल के एक बुजुर्ग के साथ 16 से 25 साल के बीच की आयु के छह बच्चे शामिल थे। इन्हीं में से 25 वर्षीय युवा फार्महाउस से भागने में कामयाब रहा और पास ही स्थित एक बियर बार पहुंच गया, जहां उसने बियर बार के मालिक क्रिस वेस्टबीक से मदद मांगी, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ और पुलिस को सूचना दी गई।

बियर बार के मालिक क्रिस ने बताया कि 25 साल का वह युवा उनके बार आया और पांच बियर पी गया। इसके बाद वह उनसे बोला कि वह घर से भाग कर आया है और उसे मदद चाहिए। इसके बाद क्रिस ने पुलिस को जानकारी दी। जानकारी मिलने के बाद पुलिस फार्महाउस पहुंची तो तहखाने में उन्हें 58 वर्षीय जेन जॉन वेन डोर्सटन नाम का बुजुर्ग पलंग पर लेटा हुआ मिला। साथ ही वहां 16 से 25 साल के बीच की उम्र के बच्चे भी मौजूद थे।

पुलिस ने डोर्सटन को जांच में सहयोग न करने के लिए गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि परिवार फार्महाउस में सब्जियां उगाकर व पशुओं को पालकर अपना गुजारा करता था। बच्चों और बुजुर्ग के बीच क्या संबंध है, इस बात का पता नहीं चल पाया है। उन्होंने डोर्सटन को बच्चों का पिता नहीं माना है।

पुलिस का कहना कि जांच अभी चल रही है और इससे आगे की जानकारी नहीं दी जा सकती। बच्चों की मां के बारे में भी किसी तरह की जानकारी नहीं मिली है। एक स्थानीय ने बताया कि बच्चों की मां के बारे में कोई नहीं जानता। उसका अनुमान था कि शायद बच्चों की मां को फार्महाउस में ही दफन कर दिया गया है। क्षेत्र के मेयर रोजर डि ग्रूट ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि उन्होंने अपनी जिंदगी में पहले ऐसा कभी कुछ नहीं देखा। यह अपने तरह की पहली घटना है। लोगों द्वारा पुलिस को सूचना देने के बाद से ही पुलिस जांच में जुटी हुई है और जल्द ही सारे राज सामने आ जाएंगे।

बार के मालिक वेस्टबीक ने कहा कि 25 वर्षीय वह युवक जो उनके पास आया उसकी दाढ़ी बढ़ी हुई थी। उसने काफी समय से बाल भी नहीं कटवाए थे। वह नौ साल से तहखाने में था और कभी फार्महाउस के बाहर नहीं गया था। उसके भाई-बहनों की स्थिति भी बिल्कुल उसके जैसी ही थी और वह इस तरह की जिंदगी से ऊब गया था। वह उस तहखाने में और नहीं रहना चाहता था। युवक ने बातचीत में बताया कि वह रात में तहखाने से भागा, क्योंकि सुबह के समय वहां से भागना संभव नहीं था।

Related Articles

Back to top button
Close
Close