मध्य प्रदेश

इंदौर, भोपाल के बाद जबलपुर को दो भागो में बांटने का बीजेपी करेगी विरोध

जबलपुर
भोपाल नगर निगम को दो भागों में बांटने का विरोध कर रही भाजपा जबलपुर नगर निगम के भी दो हिस्से करने का विरोध करेगी। जबलपुर को दो भागों में बांटने के लिए सांसद विवेक तन्खा राज्य सरकार को आवेदन दे चुके हैं। इसके लिए राज्यपाल को पार्टी की ओर से सभी 52 जिलों में चलाए गए हस्ताक्षर अभियान का ज्ञापन सौंपा जाएगा।

नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग ने भोपाल नगर निगम को दो भागों में बांटने का प्रस्ताव कलेक्टर भोपाल से मांगा था जिसके बाद कोलार नगर निगम और भोपाल नगर निगम को लेकर कलेक्टर की ओर से प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। साथ ही इसको लेकर दावे आपत्तियां भी मांगी जा चुकी हैं। इस बीच सांसद विवेक तन्खा ने नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह से ट्वीट कर भोपाल की तरह जबलपुर, इंदौर और अन्य शहरों को भी विकास की दृष्टि से दो भागों में बांटने का ट्वीट किया था। इस ट्वीट के बाद मंत्री ने आवेदन मांगे तो सांसद ने जबलपुर को दो भागों में बांटने का आवेदन भी दे दिया है।

चूंकि जबलपुर सांसद और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का संसदीय क्षेत्र है। इसलिए सिंह इसका विरोध कर रहे हैं। पार्टी सूत्रों के अनुसार 18 से 20 अक्टूबर के बीच भाजपा ने पूरे प्रदेश में नगर निगमों को दो भागों में बांटने और महापौर व नगरपालिका अध्यक्ष का चुनाव जनता से कराने की मांग को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाया था। इस अभियान के दौरान प्रदेश भर से कराए गए हस्ताक्षरप की कॉपी भाजपा नेता राज्यपाल लालजी टंडन को सौंपने जाएंगे।

इधर बड़े शहरों को दो भागों में बांटने की कवायद के बीच इंदौर नगर निगम को भी दो भागों में बांटने का विरोध भी शुरू हो गया है। विरोध करने वालों में मंत्री सज्जन सिंह वर्मा भी शामिल हैं। उन्होंने पिछले दिनों इंदौर में एक कार्यक्रम में कहा था कि किसी भी स्थिति में इंदौर नगर निगम को दो भागों में बंटने नहीं देंगे। दूसरी ओर पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी ग्वालियर नगर निगम को दो भागों में बांटने पर सहमत नहीं बताए जा रहे हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close