मध्य प्रदेश

डीआईजी इरशाद वली ने गंभीर मामले में लीपापोती को लेकर थाना प्रभारी एसएन पांडे को जमकर लगाई फटकार

भोपाल
बैरसिया में दिवाली के एक दिन पहले डाक्टर के घर डकैती डालने और बैरसिया पुलिस द्वारा प्रकरण में लीपापोती करने के मामले में आरोपी बेसुराग है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि डीआईजी इरशाद वली ने गंभीर मामले में लीपापोती को लेकर बैरसिया थाना प्रभारी एसएन पांडे को जमकर फटकार लगाई है। हर हाल में आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए हैं। जिसके बाद आनन फानन में प्रकरण की जांच के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है। क्षेत्र में रहने वाले संदिग्धों से पूछताछ शूरू कर दी गई है। पुलिस सूत्रों का यह भी दावा है कि आज सुबह एसडीओपी अंकित जयसवाल और टीआई एसएन पांडे फरियादी डाक्टर के निवास पर पहुंचे। वहां उनके दोबारा कथन दर्ज किए जा रहे हैं। जिसके बाद प्रकरण में धाराएं बड़ाई जा सकती हैं।

उल्लेखनीय है कि विश्वजीत सरकार पिता ज्योतिष सरकार (48)निवासी आरामशीन के पास तिरुपति कॉलोनी बैरसिया फ स्ट ऐड डाक्टर हैं। शनिवार की शाम सात बजे घर में थे। इस समय पत्नी रूपा सरकार,बड़ी बेटी रूबी सरकार, छोटी बेटी रानी सरकार और बेटा रूद्र सरकार घर में थे। सभी घर को सजाने का काम कर रहे थे। तभी चार नकाबपोश बदमाश कट्टे,तलवार और चाकू से लैस होकर उनके घर में घुस आए। आरोपियों ने कहा की आवाज निकाली तो अंजाम बुरा होगा। विश्वजीत ने इसका विरोध किया तो उनके सिर तथा हाथ पर आरोपियों ने तलवार से वार कर दिए। चीख पुकार की आवाज सुनकर किचन में काम रही पत्नी बचाव में आई तो बदमाशों ने कट्टे की बट से उनकी कनपटी पर वार कर दिया। इसके बाद में पत्नी के कान में पहनी बालियों को खींचकर निकाला, जिससे पत्नी के कान जख्मी हो गए। बाद में बदमाशों ने पूरे घर की तलाशी ली। फ रियादी से ही अलमारी की चाबी ली और उसमे रखे जेवरात, साढ़े तीन हजार की नकदी लेकर बदमाश चंपत हो गए। जिसकी कुल कीमत करीब 70-80 हजार रूपए बताई जा रही है। फ रियादी का कहना है कि एक बदमाश इस पूरे घटनाक्रम के दौरान घर के बाहर खड़ा निगरानी कर रहा था। उसी ने सायरन की आवाज आने के बाद मामले की जानकारी बदमाशों की तब सभी आरोपी फरार हो गए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close