राजनीति

यूरोपियन सांसद आज जाएंगे कश्मीर, राहुल का सवाल- अपने सांसदों पर बैन क्यों?

नई दिल्ली
यूरोपियन संसद के 27 सांसद मंगलवार को जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे. सांसद इस दौरान जम्मू और कश्मीर के मुख्य सचिव, राज्यपाल सत्यपाल मलिक, घाटी के युवाओं समेत कई लोगों से मुलाकात करेंगे. तय कार्यक्रम के मुताबिक, सांसद एअर इंडिया की फ्लाइट से सुबह 10.15 बजे दिल्ली से रवाना होंगे और 11.15 बजे श्रीनगर पहुंचेंगे. वहीं EU के सांसदों के कश्मीर दौरे पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कश्मीर दौरे के लिए यूरोपियन यूनियन के सांसदों का स्वागत हो रहा है, जबकि हमारे जाने पर बैन है.

बता दें कि कश्मीर दौरे पर सांसद मशहूर डल झील भी जाएंगे. वहीं जम्मू और कश्मीर के मुख्य सचिव सांसदों के लिए डिनर का भी आयोजन करेंगे. इससे पहले सोमवार को इन सभी सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और घाटी के मसले पर चर्चा की. हालांकि, यह यूरोपियन संसद की तरफ से जम्मू-कश्मीर का आधिकारिक दौरा नहीं है, बल्कि ये एक तरह से निजी दौरा है.

इस दल में शामिल बीएन डन ने बताया कि हम लोग मंगलवार को जम्मू-कश्मीर जा रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने हमें अनुच्छेद 370 से जुड़ी सभी बातें बताईं लेकिन हम सभी जमीनी स्तर पर देखना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हम स्थानीय लोगों से भी मुलाकात करेंगे. 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटा दिया था. उसके बाद से ये किसी विदेशी दल का पहला जम्मू-कश्मीर दौरा होगा.

वहीं सांसदों के कश्मीर जाने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा है. कांग्रेस ने इसे देश की संप्रभुता पर एक बड़ा हमला बताया है. राहुल गांधी ने सवाल किया है कि अपने देश के सांसदों पर बैन लगाकर विदेशी सांसदों का स्वागत करना गलत है. वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मोदी सरकार से सवाल किया कि कश्मीर मामले में ईयू के सांसदों को पंच क्यों बनाया गया?

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि यूरोपियन यूनियन के सांसदों को जम्मू और कश्मीर जाने की इजाजत देना देश की संप्रभुता पर एक बड़ा हमला है. उन्होंने कहा कि यूरोपियन यूनियन के सांसदों के बजाय कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर जाने दिया जाना चाहिए.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close