धर्म

छठ पूजा: मां को प्रसन्न करने के लिए पूजा में ये 6 फल जरूर करें शामिल

कल से आस्था का पर्व छठ शुरू होने वाला है। लोग छठी मैय्या को प्रसन्न करने के लिए उनकी पसंदीदा चीजों को पूजा में रखने के लिए तैयारियों में जुट चुके हैं। ऐसे में आप भी अगर छठी मैय्या की कृपा पाना चाहता हैं तो पूजा के दौरान इन 6 फलों को अपने पूजा के थाल में शामिल करना बिल्कुल न भूलें। आइए जानते हैं आखिर कौन से हैं वो 6 फल और क्यों हैं ये फल छठी मैय्या को पसंद।  

नारियल-
छठ पूजा में नारियल चढ़ाने का बहुत बड़ा महत्व माना गया है। दरअसल नारियल को लक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है। इसके अलावा इसे कोई पशु-पक्षी भी झूठा नहीं कर सकता है। यही वजह है कि पूजा में नारियल अर्पित करने के लिए कहा जाता है।

केला-
नारियल के अलावा छठी मैय्या को फलों में केला भी बेहद पसंद है। केला भगवान विष्णु का प्रिय फल माना जाता है। कई लोग केले को कच्चा ही तोड़कर घर में पका लेते हैं ताकि पशु-पक्षी इसे झूठा न कर सकें।

गन्ना-
माना जाता है कि छठ पूजा में गन्ना चढ़ाने से आनंद और समृद्धि की प्राप्ति होती है। गन्ने के बाहर से सख्त होने की वजह से पशु-पक्षी इसे भी झूठा नहीं कर पाते हैं। यही वजह है कि छठ में ईख से बने गुड़ का प्रसाद चढ़ाने का विशेष महत्व बताया गया है।

डाभ नींबू-
डाभ नींबू सामान्य नींबू से आकार में बड़ा होता है। जिसका स्वाद खाने में खट्टा मीठा होता है। इसके मोटे छिलके की वजह से पक्षी इसे भी आसानी से झूठा नहीं कर पाते हैं। यही वजह है कि डाभ नींबू छठ मैय्या को बेहद प्रिय है।

सुपारी-
बाकी फलों की तरह सुपारी भी बाहर से सख्त होती है। इसे देवी लक्ष्मी के प्रभाव से पूजा के लिए बेहद शुभ माना जाता है।

सिंघारा-
आयुर्वेद में सिंघारा को रोगनाशक और शक्तिवर्धक माना जाता है। इस फल का आवरण भी मोटा होने की वजह से पक्षी इसे झूठा नहीं कर पाते हैं और यही वजह है कि छठ मैय्या को यह बेहद प्रिय है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close