स्वास्थ्य

फेशियल वैक्‍स करवाने की सोच रही हैं, तो इन बातों पर दे ध्‍यान

चेहरे पर अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के ल‍िए दो तरीके सबसे प्रभावी होते हैं, वैक्सिंग और लेजर। लेजर, वैक्सिंग की तुलना में काफी महंगा प्रोसेस होता है और लोग साइडइफेक्‍ट्स के डर से इसे करने से भी थोड़ा हिचकिचाते हैं। इसल‍िए ज्‍यादात्तर लोग वैक्सिंग का विकल्‍प चुनते हैं। क्या आप भी चेहरे की वैक्सिंग करवाने की सोच रही हैं? लेक‍िन इसे लेकर द‍िमाग में आपके 10 तरीके के सवाल घूम रहे हैं जैसे कितना दर्द होगा?, सेफ़ होगा कि नहीं?, ये करवाना चाहिए या नहीं?, कहीं फेस पर ज्‍यादा बाल तो नहीं हो जाएंगे, वगैरह-वगैरह। अगर आप भी फेशियल करवाने के बारे में सोच रही हैं तो आइए जानते हैं इसे करवाने से पहले आपको किन बातों के बारे में मालूम होना जरुरी हैं।

स्किन इंफेक्‍शन होने पर न कराएं
फेशियल वैक्सिंग हर किसी के ल‍िए बेहतर ऑप्‍शन नहीं होता है, आपको कोई स्किन इन्फेक्शन है या दाने आते हैं तो चेहरे पर वैक्‍स न कराएं। अगर आपके चेहरे पर बाल बहुत ज़्यादा है और ये जेनेटिक है या किसी हार्मोनल अंसतुलन की की वजह से है, तो आपको लेज़र का विकल्‍प चुनना चाहिए। अगर आपकी ठुड्डी या गालों के आसपास दाढ़ी जैसे बाल निकल रहे हैं तो आपको मेडिकल एडवाइज की जरुरत है। वैक्सिंग एक परमानेंट सॉल्यूशन नहीं पर हां, अगर आपके चेहरे पर बहुत ज़्यादा हेयर ग्रोथ नहीं है तो वैक्सिंग करवा सकती हैं।

फेशियल वैक्‍स से पहले ध्‍यान दें
चेहरे पर इस्तेमाल होने वाला वैक्स, दूसरे वैक्स से अलग होता है। यह बहुत स्मूद होता है ताकि स्किन छिले नहीं और जलन भी न हो। चेहरे पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने के लिए जिस वैक्स का इस्तेमाल किया जाता है उसमें एलोवेरा, शहद होता है ताकि त्वचा को कम से कम नुकसान हो। इसके साथ ही वैक्स ऐसा होना चाहिए जो लंबे समय तक टिके।

वैक्स कराने का सही तरीका
कई लोग घर पर ही वैक्स करते हैं लेकिन चेहरे पर वैक्स करना इतना आसान नहीं है। चेहरे पर वैक्स करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपको अच्छी तरह वैक्स करना आता हो। वरना दुर्घटना हो सकती है। वैक्स का टेम्‍परेचर, स्ट्रिप सबकुछ सही होना चाहिए।

ध्यान देना है जरूरी
फेशियल वैक्स करने के बाद भी त्वचा की देखभाल करना जरूरी है। वैक्स करने के बाद कोई अच्छा मॉइश्चराइजर लगाएं। इसके साथ ही साबुन के बजाय चेहरा धोने के लिए फेस वॉश का इस्तेमाल करें।

Related Articles

Back to top button
Close
Close