देश

पार्टी में कोई शिवसेना का समर्थन करना नहीं चाहता: NCP नेता

 
मुंबई 

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी के साथ मुख्यमंत्री पद पर चल रहे मंथन के बीच आज शिवसेना विधायक दल की बैठक हुई. शिवसेना की बैठक में एकनाथ शिंदे को विधानसभा में विधायक दल का नेता चुना गया है, इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि वर्ली से चुनाव जीते आदित्य ठाकरे को ये पद मिल सकता है. बता दें कि बुधवार को ही भारतीय जनता पार्टी की बैठक हुई थी, जिसमें देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुना गया था.

विधायक दल के नेता के लिए आदित्य ठाकरे ने ही एकनाथ शिंदे के नाम का प्रस्ताव रखा था. पार्टी ने इसके अलावा सुनील प्रभु को विधानसभा में चीफ व्हिप चुना है. शिवसेना विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे ने कहा, पावर शेयरिंग और सरकार गठन के सभी अधिकार पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को दिए गए हैं. हम राज्यपाल से सूखे की स्थिति पर मिलने जा रहे हैं. इसी के साथ शिवसेना विधायकों का राज्यपाल के बंगले पर पहुंचना शुरू हो गया है. आदित्य ठाकरे भी राजभवन पहुंच गए हैं.
 
शरद पवार के घर एनसीपी की बैठक खत्म हो गई है. एनसीपी नेता धनंजय मुंडे ने कहा, हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है और हमने पहले भी यही बात कही है. मुंडे ने कहा, मैं शरद पवार के साथ संजय राउत की मुलाकात के बारे में नहीं जानता. काफी पहले से उनके पुराने रिश्ते रहे हैं. शिवसेना के प्रस्ताव पर सोचने का कोई सवाल ही नहीं है क्योंकि हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है.

शरद पवार के आवास सिल्वर ओक में एनसीपी नेताओं की बैठक चल रही है. इसमें शरद पवार, सुप्रिया सुले, धनंजय मुंडे और अजीत पवार शामिल हैं. इससे पहले संजय राउत ने शरद पवार से मुलाकात की थी.

सरकार बनाने को लेकर जारी गतिरोध के बीच शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने गुरुवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की. हालांकि उन्होंने इसे शिष्टाचार भेंट बताया लेकिन इसके कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.
 
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार को पार्टी के कई विधायकों और निर्दलीय विधायकों के साथ अलग अलग मुद्दों पर चर्चा की. बैठक में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांतदादा पाटिल, बीवीए के क्षितिज ठाकुर (नालासोपारा) जिनके विधानसभा में 3 विधायक हैं, पीजेंट्स एंड वर्कर्स पार्टी के श्यामसुंदर शिंदे (लोहा), जनसूर्य शक्ति के विनय कोरे, निर्दलीय विधायक रवि राणा (बडनेरा), संजय शिंदे (करमाला), गीता जैन (मीरा भायंदर), महेश बाल्दी (उरण), किशोर जोरगेवार (चंद्रपुर), विनोद अग्रवाल (गोंदिया), राजेंद्र राउत (बरसी), प्रकाश अन्ना अघडे (इचलकरंजी) उपस्थित थे. सभी विधायकों ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व को अपना समर्थन दिया. इस अवसर पर पानी के मुद्दों पर चर्चा की गई, जिसमें बेमौसम बारिश और फसलों की क्षति के बाद राज्य सरकार की ओर से किसानों की सहायता के लिए उठाए गए कदम शामिल हैं.
 
मुख्यमंत्री फडणवीस से मिले कई विधायक
महाराष्ट्र सरकार के गठन को लेकर जारी खींचतान पर शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा कि गतिरोध जल्द खत्म होगा. उन्होंने कहा, किसानों का मुद्दा अहम था इसलिए राज्यपाल से मिलने आए थे. पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे इस मामले में अंतिम निर्णय लेंगे. फडणवीस पर भरोसे को लेकर कोई सवाल नहीं है बल्कि किसानों का मुद्दा अभी महत्वपूर्ण है.

राज्यपाल से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में आदित्य ठाकरे और एकनाथ शिंदे भी शामिल थे. राजभवन से बाहर निकलने के बाद आदित्य ने कहा, हमने राज्यपाल से अनुरोध किया कि किसानों और मछुआरों को सहायता दी जाए जिन्हें हाल की बारिश के कारण भारी क्षति उठानी पड़ी है. राज्यपाल ने शिवसेना नेताओं को आश्वासन दिया कि इस मुद्दे पर वे केंद्र से बात करेंगे.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close