छत्तीसगढ़

निगम की आखिरी सामान्य सभा को यादगार बनाने की कोशिश

रायपुर
नगर निगम में आज सामान्य सभा तो हुआ लेकिन दो अलग-अलग सत्र में दोनों के नजारे ही अलग थे। यहां पर हम पहले सत्र की बात लिख रहे हैं। वैसे तो रायपुर नगर निगम की सामान्य सभा नूरा कुश्ती के लिए मशहूर रहा है। कीचड़ फेंकने से लेकर माइक पटकने की घटना तक हो चुकी है। एक दूसरे के खिलाफ आस्तिन खींचना आम बात रही। आरोप-प्रत्यारोप, बहिष्कार, नारेबाजी से हटकर सोमवार को नगर निगम की सामान्य सभा के पहले सत्र का नजारा ही कुछ अलग था। वर्तमान कार्यपरिषद से बिछुड?े का गम था वहीं नए के स्वागत की तैयारी भी शुरू हो गई है। चुनाव के बाद की ही पता चलेगा कि इनमें से कितने चेहरों की वापसी होती है। कोई गले मिल रहे थे तो कोई पुरानी दिनों की याद ताजा कर रहे थे। हाथ पकड़े सभी सदन से बाहर निकले  तो काफी सुकून भर क्षण देखने को मिला। अंदाजा भी नहीं था कि कुछ देर बाद दूसरा सत्र शुरू होगा तो फिर वही पुराने नजारे नजर देखने मिलेंगे और हुआ भी वही।

इस यादगार लम्हे को संजोने के लिए विशेष तौर पर छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डा. चरणदास महंत, सांसद सुनील सोनी विधायक बृजमोहन अग्रवाल, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, विधायक कुलदीप जुनेजा, सत्यनारायण शर्मा,विकास उपाध्याय शामिल हुए। इस दौरान इन जनप्रतिनिधियों ने अपनी बातें रखी और सभी का समवेत स्वर यही था कि नगर के विकास में अपना योगदान आज दिया और कल भी दें। जनप्रतिनिधि केवल सदन का हिस्सा नहीं बल्कि अपनी सामाजिक दायित्वों का भी निवर्हन करें। तभी जनता आपको याद रखेगी।

निगम पार्षदों को संबोधित करते हुए महंत ने कहा कि  मैं यहां आकर बहुत प्रसन्न हूं। अपने परिवार के सदस्यों से मिलने आया हूं। पार्षदों को सेवा की जिम्मेदारी मिली है ये पार्षदों का सौभाग्य है। ईश्वर और जनता ने मौका दिया है, इसे आप लोगों को गंवाना नहीं चाहिए। ज्यादा से ज्यादा सेवा का अवसर मिले ऐसी कामना करता हूंं।उन्होंने आगे कहा कि जनप्रतिनिधि चुने जाने के बाद जिम्मेदारी बढ़ जाती है। मैं जानता हूं बहुत सारे मूल्यों और जिम्मेदारी को समाहित करना पड़ता है। अच्छी परंपरा शुरू की गई है और इसके आगे भी कायम रखा जा सकता है। सांसद सुनील सोनी ने अपने पुराने दिनों की याद साझा करते हुए कहा कि 12 साल तक मै इस सदन का हिस्सा रह चुका हूं। पार्षद से सांसद तक का सफर के लिए वे इस सदन को धन्यवाद देते हैं। इससे पहले राजगीत अरपा पैरी के धार.. से सभा की शुरूआत हुई। इस दौरान रायपुर नगर निगम ने स्वच्छता गीत और थीम सांग गाने वाले बाल कलाकारों को भी सम्मानित किया। महापौर प्रमोद दुबे, सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा व अन्य पार्षदों ने आए हुए अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।

Related Articles

Back to top button
Close
Close