छत्तीसगढ़

राज्योत्सव के तीसरे दिन 8 विभूतियों और संस्थाओं को दिया गया राज्य अलंकरण

रायपुर
 राज्योत्सव के तीसरे दिन आज यहां साइंस कॉलेज मैदान में 8 विभूतियों और संस्थाओं को राज्य अलंकरण से सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत और अलंकरण समारोह की अध्यक्षता कर रहे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों एवं संस्थाओं को राज्य अलंकरण प्रदान किया। इस दौरान अदम्य साहस का प्रदर्शन करने वाले चार पुलिस कर्मियों को शौर्य पदक भी दिए गए।

राज्य अलंकरण के अंतर्गत सामाजिक समरसता के लिए रायपुर के श्री रामजी लाल अग्रवाल को महाराजा अग्रसेन सम्मान और मछली पालन के लिए माना कैंप रायपुर के श्री सुदीप दास को बिलासा बाई केंवटिन सम्मान से विभूषित किया गया। संस्कृत भाषा के लिए खैरागढ़ के प्रो. कामता प्रसाद त्रिपाठी पीयूष को संस्कृति भाषा सम्मान, पत्रकारिता के लिए नई दिल्ली के श्री रवीश कुमार को पंडित माधवराव सप्रे राष्ट्रीय रचनात्मक सम्मान, अपराध अनुसंधान के लिए दल्लीराजहरा थाने के निरीक्षक श्री मनीष सिंह परिहार को पंडित लखन लाल मिश्र सम्मान तथा श्रम के क्षेत्र में एन.टी.पी.सी. लारा रायगढ़ और भिलाई के श्री प्रशांत शेखर शर्मा को संयुक्त रूप से महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव सम्मान प्रदान किया गया। सरगुजा के श्री गंगाराम पैकरा को शहीद वीर नारायण सिंह सम्मान और मुंगेली के अभ्यारण्य शिक्षण समिति को डॉ. भंवर सिंह पोर्ते सम्मान से विभूषित किया गया।

अदम्य साहस और वीरता का परिचय देने वाले चार पुलिस कर्मियों को राज्योत्सव में आज शौर्य पदक भी प्रदान किए गए। उपनिरीक्षक श्री युगल किशोर वर्मा और आरक्षक श्री कृषलाल साहू को मरणोपरांत शौर्य पदक से सम्मानित किया गया। शहीद श्री वर्मा और श्री साहू की पत्नी ने यह पदक ग्रहण किया। सहायक उपनिरीक्षक श्री सुरेश कश्यप तथा प्रधान आरक्षक श्री ताती मुकेश को भी उनके अदम्य साहस के लिए शौर्य पदक प्रदान किया गया।

Related Articles

Back to top button
Close
Close