उत्तर प्रदेश

 हाथ में ड्रिप लगाकर ड्यूटी करता रहा बीमार सिपाही

 संभल                                                                                                                                                           
संभल में पीआरबी के सिपाही की बुखार के चलते तबीयत खराब हो गई। सिपाही इलाज कराने जिला अस्पताल पहुंचा तो चिकित्सक ने ड्रिप लगा दी, लेकिन ड्रिप लगने के बाद भी सिपाही अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद रहा। सिपाही ने ग्लूकोज की बोतल गाड़ी में लटका दी और अपनी ड्यूटी पूरी की। हाथ में ड्रिप लगाकर सिपाही को डयूटी करते देख लोगों ने कर्तव्यपरायणता की प्रशंसा की। ड्रिप लगाकर ड्यूटी करते सिपाही का वीडियो वायरल होने से यह मामला दिनभर चर्चा का विषय बना रहा।

पीआरबी 1432 पर तैनात सिपाही राजेंद्र मलिक को तीन-चार दिन पहले बुखार आया था। बुखार आने पर सिपाही ने जिला अस्पताल से दवाई ले ली और डयूटी करते रहे। हालत में सुधार नहीं हुआ तो रविवार को जिला अस्पताल की इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक ने बेड पर लिटाकर सिपाही के हाथ में ड्रिप लगा दी। तीन-चार घंटे अस्पताल में भर्ती रहने को कहा। ड्रिप लगने के बाद सिपाही ने सोचा कि अगर वह तीन-चार घंटे अस्पताल में रेस्ट पर रहेंगे तो उसके स्थान पर पीआरबी की डयूटी कौन करेगा। कोई काल आएगी तो उसे कौन रिसीव करेगा।

पुलिस विभाग में इन दिनों छुट्टियां बंद हैं। अगर वह छुट्टी लेंगे तो अधिकारियों को उसके स्थान पर दूसरा सिपाही तैनात करने में दिक्कत रहेगी। राजेंद्र जिला अस्पताल के बेड से उठे और ड्रिप हाथ में उठाकर गाड़ी में जाकर बैठ गए। बीमार होने के बाद भी सिपाही ने अपने कर्त्तव्य को निभाना ही उचित समझा। हाथ में ड्रिप लगवाने के बाद पीआरबी में बैठकर डयूटी करने लगे। पीआरबी के सिपाही को हाथ में ड्रिप लगाकर डयूटी करते देखा तो लोग सिपाही प्रशंसा करने लगे। हाथ में ड्रिप लगवाकर डयूटी करने को लेकर चर्चा होती रही। 

Related Articles

Back to top button
Close
Close