उत्तर प्रदेश

मऊ में काटी गयी रेल पटरी, मिला धमकी भरा लेटर

 मऊ 
मऊ में हलधरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम धर्मागतपुर पुलिया के निकट गुरुवार की सुबह गैस कटर से रेल पटरी काटकर ट्रेन डीरेल करने की गंभीर साजिश की गयी। पटरी से कुछ दूरी पर 50 करोड़ न देने पर फिर इसी तरह से रेल पटरी काटने का धमकी भरा पत्र भी मिला। ग्रामीणों ने कटी पटरी को देखी तो बलिया-शाहगंज पैसेंजर रोककर चालक व परिचालक को जानकारी दी। चालक की सूचना पर पुलिस और रेल अधिकारियों में खलबली मच गयी। घंटों मशक्कत के बाद रेल पटरी की मरम्मत कराने के बाद आवागमन बहाल हुआ। मामले में सीनियर सेक्शन इंजीनियर के पीडब्ल्यूआई ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है।
लगभग सुबह साढ़े आठ बजे धर्मागतपुर गांव के समीप ग्रामीण खेतों की ओर आ रहे थे, तभी इनकी नजर रेल पटरी 33/9-34/0 के बीच पड़ी। पटरी को गैस सिलेंडर की मदद से 30 से 32 एमएम यानी लगभग 2 इंच काटा गया था। दो पेनड्रोम क्लीप भी काटकर हटा दी गयी थी। कटी पटरी देखते ही किसान अवाक रह गए।

इसी दौरान शाहगंज से बलिया की तरफ पैसेजर ट्रेन आते देख ल गमछा हिलाकर रोका। चालक ने रेलवे के अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इसके साथ ही हलधरपुर थाने को भी जानकारी दी गई। मौके पर पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य, रेलवे के पीडब्ल्यूडीआई सरफराज अहमद भी दलबल के साथ पहुंच गए।

पटरी से कुछ दूरी पर एक खंभे पर पालीथीन में बंधा धमकी भरा लेटर मिला। इसमें 50 करोड़ की देने समेत तीन शर्तें नहीं मानने पर इसी तरह फिर पटरी काटने की धमकी लिखी थी। घंटों मशक्कत के बाद रेल पटरी की मरम्मत कराकर आवागमन बहाल कराया गया।

पीडब्ल्यूआई ने अज्ञात के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। मामले में एसपी अनुराग आर्य का कहना है कि पत्र के में किसी प्रेम प्रसंग का मामला भी लिखा है। हो सकता है कि युवक ने इस तरह के वारदात को अंजाम देने की साजिश की है। साथ ही पूरी घटना से ध्यान भटकाने की भी साजिश हो सकती है। पुलिस सभी बिन्दुओं पर जांच कर रही है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close