खेल

‘शतकवीर’ सुनीता लाकड़ा का ओलंपिक का सपना टूटा, अचानक लेना पड़ा संन्यास

नई दिल्ली
 भारतीय महिला टीम की अनुभवी हॉकी खिलाड़ी सुनीता लाकरा ने इंटरनेशनल हॉकी से संन्यास की घोषणा कर दी है। 28 साल की भारतीय डिफेंडर ने गुरुवार को इंटरनेशनल हॉकी से अपने संन्यास लेने की जानकारी दी। पिछले एक दशक से भी ज्यादा तक टीम का अहम हिस्सा रही सुनीता ने ओलंपिक में भी भारत की तरफ से खेला है।

सुनीता ने अपने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा, "आज का दिन मेरे लिए बेहद ही भावुक है क्योंकि मैंने इंटरनेशनल हॉकी से संन्यास लेने का फैसला लिया है। साल 2008 से अब तक भारतीय हॉकी टीम के साथ मेरा सफर बेहद ही शानदार रहा। इस सफर में मैंने बहुत से उतार चढ़ाव देखे लेकिन इन सबके बाद भी हम सब एकजुट रहे। एक दूसरे को हमने टीम में ताकत दी और खुद को मजबूत करने के लिए प्रेरणा भी बने। हर एक बुरी चीजों के खिलाफ बेहतरी तक लड़ाई की और आखिरी अपने देश के लिए सम्मान हासिल किया।"

आगे उन्होंने कहा, "मैं खुद को बहुत ही भाग्यशाली मानती हूं कि मुझे 2016 के रियो ओलंपिक में खेलने का मौका मिला। 3 दशक में भारतीय महिला टीम की पहली ओलंपिक भागेदारी। भारत में कई लोगों ने मुझे ये कहा कि भारतीय महिला हॉकी के लिए यह ऐतिहासिक पल है लेकिन मैं हमेशा ही यह मानता हूं कि यह टीम इससे कहीं ज्यादा हासिल करने की क्षमता रखती है।"

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close