उत्तर प्रदेश

जांच करवाकर भेज दूंगा जेल, वाराणसी में स्टेडियम का हाल देख बोले खेल मंत्री

वाराणसी  
वाराणसी में सिगरा स्थित डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में शुक्रवार को पहली बार पहुंचे सूबे के खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी अनियोजित और मानक विहीन कार्यों पर तल्ख नजर आए। यहां 7 करोड़ 55 लाख रुपये से पूरे हो चुके और निर्मित कार्यों का ब्योरा मांगा तो यूपीपीसीएल के इंजीनियरों के चेहरे पर हवाइयां उड़नें लगीं। घंटे भर में भी कार्यों का स्पष्ट ब्योरा नहीं दे सके। नाराज मंत्री ने कहा कि एक-एक चीज की जांच करवाकर मुकदमा दर्ज कराऊंगा और जेल भेजवा दूंगा। उन्होंने 10 और 11 जनवरी की बैठक में एक-एक कार्य की पूरी रिपोर्ट मांगी है। 

मंत्री उपेंद्र तिवारी सुबह सात बजे स्टेडियम पहुंचे। मैदान का भ्रमण कर नाली कार्य, मैदान की लेवलिंग, बैडमिंटन कोर्ट के वुडेन फ्लोर, भवनों की पेंटिंग, कुश्ती हाल, निर्माणाधीन डॉरमेट्री देखने के बाद क्षेत्रीय क्रीड़ा कार्यालय में निर्माणदायी संस्था यूपीपीसीएल के अफसरों को तलब किया। इस दौरान स्टेडियम में टहलने वाले लोग भी पहुंचे और यहां हुए कार्यों की एक-एक शिकायतें करने लगे। इस पर मंत्री ने परियोजना प्रबंधक आरएन यादव और अवर अभियंता ओपी चौबे से 7 करोड़ 55 लाख रुपये में हुए कार्यों का ब्योरा मांगा।

मैदान के चारों ओर हुए नाली निर्माण और मैदान की लेवलिंग कार्य को लेकर सवाल खड़ा किया। एस्टीमेट के मुताबिक आठ इंच मोटी परत की मिट्टी न डालने पर नाराजगी जताई। बैठक के बाद 8.30 बजे यहां से लालपुर स्टेडियम निकले। आरएसओ आरपी सिंह से कहा कि यूपीपीसीएल के साथ बैठकर एक-एक कार्य की रिपोर्ट तैयार कर लें। 10 और 11 जनवरी की बैठक में इस पर बात होगी। इस पर जांच बैठाऊंगा। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा समेत अन्य कई भाजपा नेता मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close