राजनीति

राहुल गांधी पर बरसे अमित शाह- कानून नहीं पढ़ा तो इटालियन में ट्रांसलेट कर भेज सकता हूं

 
जोधपुर  

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को नागरिकता संशोधन एक्ट के पक्ष में राजस्थान के जोधपुर में जनसभा की. इस दौरान अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत विपक्ष के नेताओं पर जमकर हमला बोला. अमित शाह ने ऐलान किया कि जितना भी भ्रम फैलाना है, फैला लें लेकिन बीजेपी इस कानून पर एक इंच भी पीछे नहीं हटेगी. केंद्रीय गृह मंत्री बोले कि अगर राहुल गांधी ने कानून पढ़ा है तो वह उनसे बहस कर सकते हैं.

राहुल गांधी पर जमकर बरसे अमित शाह
अमित शाह बोले कि कांग्रेस, ममता दीदी, एसपी, बीएसपी, केजरीवाल एंड कंपनी सभी इस कानून का विरोध कर रहे हैं, इन सभी को मैं चुनौती देता हूं कि वो साबित करें इससे किसी अल्पसंख्यक को नुकसान होगा. अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा, अगर कानून पढ़ा है तो इसपर चर्चा करने के लिए आ जाइए. अगर नहीं पढ़ा है तो मैं आपको इटली भाषा में इसका ट्रांसलेशन भेजने के लिए तैयार हूं.
 
अमित शाह ने कहा कि सारी पार्टी एक हो जाएं, बीजेपी CAA पर एक इंच भी वापस नहीं आएगी. जितना भी भ्रम फैलाना है, फैला लो. लेकिन हम इस कानून पर पीछे नहीं हटेंगे.  जनसभा में अमित शाह ने लोगों को एक नंबर दिया और कहा कि इस पर मिसकॉल देकर CAA के लिए अपना समर्थन दर्ज कराएं. अमित शाह द्वारा दिया गया नंबर- 8866288662

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जोधपुर में कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने देश के अंदर नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में जनजागरण अभियान का आयोजन किया है. जिनको वोटबैंक की राजनीति करने की आदत है वही इसका विरोध कर रहे हैं. कांग्रेस पार्टी ने CAA के खिलाफ दुष्प्रचार किया है, जिसकी वजह से देश के हजारों युवा गुमराह हुए. इसी वजह से हम CAA को लेकर जनजागरण कर रहे हैं.

गृह मंत्री बोले कि पाकिस्तान-बांग्लादेश-अफगानिस्तान से जो हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई और पारसी अल्पसंख्यक आए, उनकी किसी ने चिंता नहीं की. लेकिन मोदी सरकार ने इस वादे को निभाया.

अमित शाह बोले कि उनको भारत में नागरिकता देने का महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, राजेंद्र प्रसाद, सरदार पटेल समेत सभी नेताओं ने इसका वादा किया था, क्या ये भी सांप्रदायिक थे. कांग्रेस ने वोटबैंक की वजह से कुछ नहीं किया, लेकिन नरेंद्र मोदी 56 इंच की छाती वाले हैं वह किसी से नहीं घबराते हैं.
 
'शरणार्थियों के अच्छे दिन'
रैली में अमित शाह ने कहा कि आपके (शरणार्थियों) के अच्छे दिन आ गए हैं, क्योंकि अब आप भारत के नागरिक बन गए हैं. विपक्ष कुछ भी कहे लेकिन मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि जो आए हैं ये देश उनका भी उतना है, जितना मेरा है. ये नरेंद्र मोदी का शासन है, यहां किसी को डरने की जरूरत नहीं है.

जनसभा में अमित शाह ने कहा कि नागरिकता देकर हम शरणार्थियों को उनके अधिकार दे रहे हैं. नेहरु-लियाकत समझौता का सिर्फ हिंदुस्तान ने पालन किया, पाकिस्तान ने उसका पालन नहीं किया. पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में लगातार हिंदुओं की संख्या कम हो रही है, कांग्रेस ने भले ही अपने पूर्व के नेताओं के वचन पर अमल नहीं किया लेकिन हम करेंगे.

मायावती, अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जो शरणार्थी पड़ोसी मुल्क से यहां आए हैं, उनमें अधिकतर दलित हैं. आप याद रखना कि इसका विरोध करना दलितों का विरोध करना होगा, जिसे देश याद रखेगा. ममता दीदी बताएं कि बंगाली हिंदुओं ने आपका क्या बिगाड़ा है.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close