देश

ढाका के वीडियो को बताया UP का, किरकिरी के बाद इमरान ने किया डिलीट

 
नई दिल्ली 
 भारत को नीचा दिखाने के लिए गलत हथकंडे अपनाना पाकिस्तान की पुरानी आदत है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी इसमें पीछे नहीं रहते हैं. वहीं हर बार की तरह इस बार भी पाक पीएम ने दुनिया के सामने भारत को गुमराह करने की साजिश रची लेकिन पाकिस्तानी पीएम अपनी ही किरकिरी करा बैठे.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अक्सर भारत के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए देखा जा चुका है. भारत के खिलाफ फेक न्यूज फैलाने में इमरान खान भी पीछे नहीं रहते हैं लेकिन इस बार उनका दांव सोशल मीडिया पर ही पकड़ा गया.

दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक के बाद एक कई वीडियो पोस्ट किए. इन वीडियो को पोस्ट करने के साथ ही इमरान खान ने लिखा, 'उत्तर प्रदेश में भारतीय पुलिस की मुस्लिमों के खिलाफ कार्रवाई.'
 
पाकिस्तानी पीएम ने जो वीडियो शेयर किए थे उनमें पुलिस की ओर से आम नागरिकों की पिटाई की जा रही थी. वीडियो में दिखाई देने वाले पुलिसकर्मियों को इमरान खान यूपी पुलिस के जवान करार दे रहे थे. लेकिन पाकिस्तानी पीएम यहीं अपनी मिट्टी पलीद करा बैठे.

सात साल पुराना वीडियो

इमरान खान की कोशिश थी कि नागरिकता संशोधन अधिनियम पर भारत में हुई हिंसा से जोड़ते हुए इन वीडियो के जरिए वे भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम कर सकेंगे, लेकिन ये वीडियो भारत का था ही नहीं. सोशल मीडिया पर इसकी पोल खुल गई. इमरान खान ने जो वीडियो शेयर किया था वो बांग्लादेश के ढाका का था. इतना ही नहीं, ये वीडियो 7 साल पुराने थे.

हालांकि जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अपनी किरकिरी का अहसास हुआ तो उन्होंने तुरंत इस वीडियो को अपने ट्विटर अकाउंट से हटा लिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. इससे पहले भी पाकिस्तान भारत के खिलाफ काफी फेक न्यूज फैला चुका है

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close