देश

रातोंरात करोड़पति बना मजदूर, 12 Cr. की लॉटरी

कन्नूर
केरल के कन्नूर के रहने वाले पेरून्नन राजन मजदूरी का काम करते हैं। बीती 10 फरवरी को उनके साथ कुछ ऐसा हुआ, जिसने उनकी जिंदगी बदल दी। दिहाड़ी मजदूरी करने वाले राजन की 12 करोड़ की लॉटरी लग गई। टैक्स कटने के बाद भी उनके खाते में तकरीबन 7 करोड़ रुपये आएंगे। राजन ने बताया कि उन्हें अब भी यह किसी सपने की तरह लगता है कि वह रातोंरात करोड़पति हो गए।

मलूर के थोलांबरा इलाके रहने वाले 58 साल के राजन दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पालते हैं। परिवार की आर्थिक विपन्नता के बावजूद वह लॉटरी का टिकट खरीदना नहीं भूलते थे। उन्हें भरोसा था कि किसी दिन उनकी किस्मत जरूर बदलेगी।

कई बार क्रॉस चेक किए नतीजे
लॉटरी लगने के बाद राजन ने कहा कि उन्होंने इतनी बड़ी कामयाबी के बारे में कभी नहीं सोचा था। उन्होंने बताया कि कल जब लॉटरी के नतीजे घोषित किए गए तब उन्होंने उम्मीद नहीं की थी कि वह इसके विजेता बनेंगे लेकिन जब उन्होंने अपने परिवार के साथ नतीजे देखे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। राजन ने बताया कि लॉटरी टिकट बैंक में जमा करने से पहले उन्होंने रिजल्ट को कई बार क्रॉस-चेक किया था।

जरूरतमंद लोगों के लिए कुछ करना चाहते हैं राजन
राजन ने कहा कि उन्होंने पहले थोलांबरा के को-ऑपरेटिव बैंक में संपर्क किया। वहां अधिकारियों ने उन्हें कन्नूर के जिला बैंक जाने के लिए कहा। इसके बाद वह अपनी पत्नी रजनी, बेटे रिगिल और बेटी अक्षरा के साथ बैंक पहुंचे और वहां टिकट सबमिट किया। लॉटरी में मिले पैसों के इस्तेमाल के बारे में पूछे जाने पर राजन ने बताया कि सबसे पहले तो उन पर कुछ देनदारियां हैं, जिन्हें उन्हें निपटाना है। इसके बाद वह आसपास के जरूतमंद लोगों के लिए कुछ करना चाहेंगे।

राजन ने कहा कि वह पसीने की कीमत जानते हैं और यह भी जानते हैं कि पैसे कमाना आसान नहीं है। ऐसे में वह इस धनराशि को बेकार नहीं होने देना चाहते।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close