मध्य प्रदेश

सभी शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम

 भोपाल

कौशल विकास संचालनालय के समन्वय से भारतीय रिजर्व बैंक ने प्रदेश के सभी 243 शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में माह फरवरी-2020 के अंतर्गत वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है। प्रथम चरण में प्रदेश के सभी 52 जिला मुख्यालयों पर स्थित 66 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 3 से 7 फरवरी तक प्रतिनियुक्त बैंक अधिकारियों द्वारा वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आयोजित किये गये। द्वितीय चरण में शेष 180 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 15 फरवरी तक वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं।

इन कार्यक्रमों में सामान्य वित्तीय साक्षरता के साथ बैंक अधिकारियों द्वारा एमएसएमई लोन से संबंधित जानकारी भी प्रतिभागियों को उपलब्ध कराई जा रही है। कार्यक्रम का उद्देश्य प्रतिभागियों को स्व-रोजगार के लिये प्रेरित करना और उसके लिये आवश्यक वित्त संबंधी आवश्यक जानकारी देना है।

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा वर्ष 2020 का वित्तीय साक्षरता सप्ताह 'सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम'' थीम पर मनाया जा रहा है। इसमें वित्तीय समावेशन और विकास विभाग, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा भोपाल स्थित तीन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (ITIs) के लगभग 300 प्रशिक्षुओं के लिये वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं। साथ ही बैंक ऑफ इण्डिया एवं एचडीएफसी बैंक के 'सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम'' के क्षेत्र में कार्यरत अधिकारियों द्वारा प्रशिक्षुओं को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के उद्यमियों के लिये उपलब्ध ऋण सुविधाओं, ऋण से संबंधित औपचारिकताओं एवं अन्य संबंधित विषयों पर जानकारी दी जा रही है। कार्यक्रम के दौरान बैंकिंग विषयों से संबंधित प्रतिभागियों के प्रश्नों का भी निराकरण भी किया जा रहा है।

आदर्श आईटीआई, गोविंदपुरा में वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम

वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आदर्श आईटीआई, गोविंदपुरा, भोपाल के सभागार में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारियों द्वारा एमएसएमई से संबंधित पॉलिसी, सीजीटीएमएसई योजना, टीआरईडीएस योजना, भारत और राज्य सरकार की एमएसएमई से संबंधित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। साथ ही पूँजी योजनाएँ, अधिक ब्याज दरों पर निवेश का लालच, बैंकिंग लोकपाल योजना, एटीएम का सुरक्षित परिचालन, लोन प्रक्रिया, सुरक्षित लेन-देन, करेंसी नोटों की सुरक्षा विशेषताएँ, सस्ते धन के ई-मेल/एसएमएस द्वारा प्रस्ताव, धोखेबाजों द्वारा फोन पर एटीएम पिन संबंधित जानकारी मांगना, कैश-लेश लेन-देन के फायदे, बचत, ऋण, सुरक्षित निवेश तथा ऋण के समय पर भुगतान सहित वेबसाइट इत्यादि के बारे में जानकारी दी गई।

वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक, भोपाल के महाप्रबंधक डॉ. आदित्य गेहा, महाप्रबंधक  जतिन रावल,  विकास गोयल, कैप्टन अरुण इनामदार,  सौरभ शर्मा एवं कौशल विकास संचालनालय मध्यप्रदेश से अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी  डी.के. व्यास, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी  जी.एन. अग्रवाल और संयुक्त संचालक  डी.एस. ठाकुर,  शक्ति सिंह,  अभिषेक सिंह,  बृजेश वर्मा और आईटीआई, भोपाल के अन्य अधिकारी शामिल हुए।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close