छत्तीसगढ़

पति की मौत के कुछ घंटे बाद पत्नी ने भी त्यागे प्राण, लोगों ने कहा- यही है अमर प्रेम की मिसाल

मुंगेली
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुंगेली (Mungeli) में एक अनोखा मामला सामने आया है, जहां पति की मौत के कुछ घंटे बाद पत्‍नी ने भी अपने प्राण त्‍याग दिए. इस घटना के बारे में जिसने भी सुना उसके मुख से बुजुर्ग दम्पति के लिए यही निकला कि इनका प्रेम अमर है. जी हां, 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे मनाया जाएगा, लेकिन इससे एक दिन पहले दम्पति की हुई मौत पूरे इलाके में चर्चा का कारण बनी हुई है.

मामला मुंगेली के पुराना बस स्टैंड मोहल्ले का है, जहां 90 साल के बुजुर्ग भूखनलाल केशरवानी का निधन हो गया. इससे उनकी पत्नी राधिका केशरवानी को इतना गहरा सदमा लगा कि उन्‍होंने अपने पति के शव को देखते-देखते ही दम तोड़ दिया.

शादी के समय अग्नि के सात फेरे लेते हुए सात वचन लिए जाते हैं. इस बुजुर्ग दम्पति ने भी मानो सात फेरों के साथ ही जीने मरने की कसम खाई हो. यही वजह है कि पति के निधन के कुछ घंटे बाद ही पत्नी ने भी अपने जीवनसाथी को दिए वचन को निभाया और खुद भी दम तोड़ दिया. जबकि माता-पिता का एक साथ निधन होने से केशरवानी परिवार हैरान है. परिजनों ने आज माता-पिता की अंतिम यात्रा एक साथ निकाली.

बुजुर्ग दम्पति के निधन से शोकमुंगेली में जिसने भी इन बुजुर्गों की मौत की खबर सुनी, उसने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि दोनों ने अटूट प्रेम के साथ जीने मरने की कसम निभाकर एक अनोखी मिसाल पेश की है.

बुजुर्ग माता-पिता के इस अटूट प्रेम एक दूसरे के प्रति समर्पण और साथ रहने की ऐसी जिद को देख परिजनों ने दोनों शव को एक ही चिता पर सजाकर मुखाग्नि दिया. जबकि वहां मौजूद सभी लोगों की आंखे नम थी और अमर प्रेम की इस मिसाल को सभी ने अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close