मध्य प्रदेश

सिंधिया को कमलनाथ के 2 मंत्रियों का मिला साथ, बोले- महाराज अकेले नहीं, पूरी कांग्रेस सड़क पर उतरेगी

ग्वालियर
मध्‍य प्रदेश सरकार की मंत्री इमरती देवी के बाद अब सूबे के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के सड़क पर उतरने वाले बयान की पैरवी की है. मंत्री ने सिंधिया के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि वचनपत्र के वादे पूरे नहीं हुए तो उनके (सिंधिया) साथ पूरी कांग्रेस सड़क पर उतरेगी.

ज्योतिरादित्य सिंधिया के सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने के बयान के बाद एमपी कांग्रेस की सियासत में बवाल मचा है. सिंधिया के बयान को मंत्री इमरती देवी के बाद अब मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर का भी समर्थन मिला है. उन्‍होंने कहा कि सिंधिया ने सरकार को जनता से किए गए वादे पूरे करने के लिए आगाह किया है. वचन पत्र पूरा कराने के लिए केवल सिंधिया ही सड़कों पर नहीं उतरेंगे बल्कि पूरी कांग्रेस उनके साथ सड़कों पर उतरेगी.

सिंधिया के सड़क पर उतरने वाले बयान पर सहकारिता मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने कहा था कि जनता ने हमे कुर्सी पर बैठाया है. सड़क उतरने का काम बीजेपी का है. इस बयान पर प्रद्युमन सिंह तोमर ने असहमति जताई है. तोमर के मुताबिक जनता ने हमें कुर्सी पर आराम करने के लिए नहीं बल्कि चुनाव के पहले दिए वचनों को पूरा करने के लिए बैठाया था और सरकार का लक्ष्य अंतिम छोर के व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना. गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि यदि सरकार वचन पूरे नहीं करेगी तो वह जनता की आवाज बन कर सड़कों पर उतरेंगे. हालांकि उनके इस बयान के बाद सीएम कमलनाथ ने साफ कर दिया था कि वो चाहे तो सड़कों पर उतर जाएं.

मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सिंधिया के बयान का समर्थन किया है तो बैठे-बिठाए विपक्ष को एक मुद्दा मिल गया है. इन बयानों के बाद विपक्ष ने निशाना साधते हुए कहा कि सरकार में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं बल्कि गुटबाजी हावी है.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close