देश

मई में डरा रहा कोरोना: अब हर दिन इटली से भी ज्यादा नए केस

नई दिल्ली
भारत में अब तक 40 से ज्यादा दिनों से जारी लॉकडाउन (Coronavirus lockdown in India) के बाद कोरोना वायरस की रफ्तार धीमी जरूरी हुई है, लेकिन अब भी बहुत ज्यादा है। पिछले 24 घंटे में देश में 3,900 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं जबकि 195 लोगों की मौत इस जानलेवा वायरस के कारण हुई है। देश में कोरोना मरीजों की तादाद बढ़कर 46 हजार से ज्यादा हो गई है।

कोरोना का डेली ग्रोथ दे रहा है अब टेंशन
इसे इस बात से समझ सकते हैं कि भारत में डेली ग्रोथ रेट (average daily gowth rate of Corona ) अब अमेरिका, इटली, ब्रिटेन जैसे कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों से भी ज्यादा है। आइए, आंकड़ों के जरिए समझते हैं कि दुनिया के बाकी देशों और भारत में इस समय वायरस के संक्रमण की क्या स्थिति है।

सबसे ज्यादा ग्रोथ रेट वाले देशों में भारत
अगर कोरोना संक्रमण से सबसे बुरी तरह प्रभावित प्रभावित 20 देशों में डेली ग्रोथ रेट देखें तो भारत में वायरस बहुत ही तेज रफ्तार से फैल रहा है। लॉकडाउन के बावजूद कोरोना की यह रफ्तार अब चिंता बढ़ाने वाली है।

22 मार्च को भारत में एवरेज डेली ग्रोथ रेट 19.9 प्रतिशत था। उस वक्त इटली को छोड़कर अमेरिका, रूस, ब्राजील और ब्रिटेन जैसे देशों में डेली ग्रोथ रेट भारत से काफी ज्यादा थी। हालांकि, देशव्यापी लॉकडाउन के बाद भारत में कोरोना के मामलों की डेली ग्रोथ रेट लगातार गिरने लगी। लॉकडाउन 2.0 के आखिरी दिन यानी 3 मई को डेली ग्रोथ रेट घटकर 6.1 प्रतिशत आ गई। इससे तो अच्छी तस्वीर उभर रही है लेकिन जब दूसरे देशों से तुलना करते हैं तब यही आंकड़ा डराने वाला महसूस होता है। 3 मई की बात करें तो भारत में डेली ग्रोथ रेट इटली (1.0%) के मुकाबले 6 गुना है। अमेरिका (2.7%) और ब्रिटेन (3.0%) के मुकाबले 2 गुना है। डेली ग्रोथ रेट के मामले में सिर्फ रूस (7.5%) और ब्राजील (7.4%) ही भारत से ऊपर हैं।

इटली से भी ज्यादा नए मामले भारत में
4 मई को इटली में 1221 नए केस सामने आए जबकि भारत में 2900 नए मामले सामने आए। इसी तरह 3 मई के आंकड़ों को देखें तो उस दिन भारत में कोरोना के नए मामले इटली से भी ज्यादा रहे जहां कुल केस 2 लाख से ऊपर पहुंच चुके हैं। 3 मई को भारत नए केसों के मामले में दुनिया में 5वें नंबर पर था। उस दिन देश में 2,644 नए मामले सामने आए, जबकि इटली में यह आंकड़ा 1,900 का था। नए केसों के मामले में भारत से ऊपर अमेरिका, रूस, ब्राजील और ब्रिटेन ही थे।

कोरोना काल में क्यों खोली गईं शराब की दुकानें, गणित समझिए
कोरोना काल में क्यों खोली गईं शराब की दुकानें, गणित समझिएलॉकडाउन में शराब की दुकानें खोले जाने के बाद सोशल मीडिया पर इस बात लेकर बहस चल पड़ी है कि सरकार को अभी ऐसा कदम उठाना चाहिए था या नहीं। कई लोग इस बात से वाकिफ नहीं हैं कि शराब सिर्फ शौकीनों के लिए नहीं, बल्कि सरकारों की आर्थिक सेहत के लिए भी कितनी जरूरी है। देखिए ये वीडियो रिपोर्ट।

सप्ताह दर सप्ताह भारत में तेजी से बढ़ रहा कोरोना
सप्ताह दर सप्ताह भारत में एवरेज डेली केस लगातार और तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके उलट पिछले कुछ सप्ताह से इटली और ब्रिटेन में एवरेज डेली केस लगातार घट रहे हैं।

मई में कोरोना की छलांग ने उड़ा दिए होश

22 मार्च को खत्म हुए सप्ताह से लेकर 3 मई को खत्म हुए सप्ताह तक अगर भारत के डेली एवरेज केस की अन्य देशों से तुलना करें तो हालात की गंभीरता का अंदाजा लग सकता है। 3 मई को खत्म हुए सप्ताह में भारत में हर दिन औसतन 1,926 केस बढ़े। इटली में यह आंकड़ा 1997, यूके में 4840, ब्राजील में 5436 और रूस में 7067 था।

मार्च के आखिर से अब तक देश में यूं बढ़ा कोरोना
मार्च आखिर से अब तक की बात करें तो 22 मार्च को खत्म हुए सप्ताह के दौरान भारत में हर दिन औसतन 33 केस सामने आ रहे थे। 29 मार्च को खत्म हुए सप्ताह में यह आंकड़ा बढ़कर 94 हो गया। इसके बाद नए मामले तेजी से बढ़े। 5 अप्रैल को खत्म हुए सप्ताह में हर दिन औसतन 712 नए केस बढ़े। 19 अप्रैल को खत्म हुए सप्ताह में यह आंकड़ा एक हजार को पार करते हुए 1,051 पहुंच गया। 26 अप्रैल को खत्म होने वाले हफ्ते में हर दिन औसतन 1,541 केस बढ़े और 3 मई को खत्म होने वाले हफ्ते में यह आंकड़ा 1926 पहुंच गया है। पिछले कुछ दिनों से तो भारत में लगातार 2 हजार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close