विश्व

LAC पर खास ‘हेलिकॉप्टर’ की तैनाती में जुटा चीन

पेइचिंग
लद्दाख सीमा पर जारी तनाव के बीच चीन ने मानव रहित हेलिकॉप्टर का पहली बार सफल परीक्षण किया है। चीनी मीडिया के अनुसार, इस हेलिकॉप्टर को भारत से सटी सीमा पर तैनात किया जाएगा। बता दें कि लद्दाख में पहले से ही दोनों देशों की सैन्य टुकड़ियां आमने-सामने है।

लद्दाख में तनाव जारी
बता दें कि हाल के सैन्य झड़पों के बाद से चीन ने लद्दाख से लगी सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती की है। इतना ही नहीं, चीनी सेना ने सीमा से लगे क्षेत्रों में नए बंकर बनाने के लिए अर्थ मूवर्स मशीनों को भी तैनात किया है। वहीं, भारत ने भी लद्दाख से लगी सीमा पर अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। हाल में ही सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने लद्दाख बॉर्डर का दौरा कर ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा भी लिया था।

भारत से लगी सीमा पर होगी तैनाती
चीन का सरकारी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, स्वदेशी तकनीक पर विकसित मानव रहित हेलिकॉप्टर AR500C ने हाल में ही अपनी पहली उड़ान भरी है। यह हेलिकॉप्टर टोह लेने, रेकी करने के अलावा, कम्यूनिकेशन, इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर, परमाणु विकिरण का पता लगाने, ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जंगी गतिविधि में उपयोगी साबित होगा। इस हेलिकॉप्टर को भारत से लगी सीमा पर तैनात किए जाने की योजना है।

500 किग्रा तक का पेलोड उठाने मेंं सक्षम
इस हेलिकॉप्टर का निर्माण चीन के सरकारी स्वामित्व वाली एविएशन इंडस्ट्री कॉरपोरेशन ने किया है। जिसने बुधवार को पूर्वी चीन के जियांग्शी प्रांत के पोयांग में एक एवीआईसी बेस पर अपनी पहली उड़ान भरी। इस दौरान हेलिकॉप्टर ने कई प्रकार के मनुवर को भी प्रदर्शित किया। यह हेलिकॉप्टर अधिकतम 500 किलोग्राम तक के भार तो उठा सकता है।

170 किमी/घंटे की स्पीड से भर सकता है उड़ान
बता दें कि AR500C चीन द्वारा विकसित पहला मानव रहित हेलिकॉप्टर है। यह पांच किलोमीटर की रेंज में 6700 मीटर की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। इसकी अधिकतम स्पीड 170 किलोमीटर प्रति घंटा है, जबकि एक बार में इसे 5 घंटे तक उड़ाया जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close