देश

देश में कोरोना सवा लाख के पार, पर इस राज्य में एक भी केस नहीं

नई दिल्ली
देश में कोरोना वायरस (Coronavirus cases in India) का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कुल मामले डेढ़ लाख के करीब पहुंच चुके हैं। पिछले एक हफ्ते से हर दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 6 हजार से ज्यादा मामले आ रहे हैं। दिल्ली जैसे शहर में एक दिन में 600 से ज्यादा तो मुंबई में 2 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। दूसरी तरफ एक केंद्रशासित प्रदेश ऐसा भी है जो अब तक इस खतरनाक वायरस के कहर से पूरी तरह मुक्त है। यह है लक्षद्वीप (Corona-free Lakshadweep)।

नगालैंड भी कोरोना-मुक्त था लेकिन एक साथ मिले 3 केस
सिक्किम में कोरोना का केस मिलने के बाद नगालैंड और लक्षद्वीप ही देश के 2 ऐसे राज्य थे जो कोविड-19 से मुक्त थे। अब सोमवार को नगालैंड में एक ही दिन में 3 कोरोना पॉजिटिव मामले मिलने के बाद लक्षद्वीप इकलौता राज्य/केंद्रशासित प्रदेश हो गया है जहां अभी तक कोरोना का एक भी संक्रमण नहीं पहुंचा है। नगालैंड के तीनों संक्रमित चेन्नै से श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए वहां पहुंचे हैं।

नगालैंड के तीनों संक्रमित चेन्नै से श्रमिक स्पेशल से गए थे
नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने ट्वीट किया, 'दुर्भाग्य से दीमापुर में 2 और कोहिमा में 1 व्यक्ति कोविड-19 के टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। कृपया घबराए नहीं। हमें इसे बहुत ही ध्यान से और जिम्मेदारी से निपटना है। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और कंटेनमेंट के जरूरी उपायों को किया जा रहा है और स्थिति की करीब से निगरानी की जा रही है।'

अपनी भौगौलिक स्थिति की वजह से अब तक कोरोना से अछूता है लक्षद्वीप
दूसरी तरफ, लक्षद्वीप बहुत हद तक अपनी भौगोलिक स्थिति की वजह से अब तक कोरोना वायरस से मुक्त रहा है। यह छोटे-छोटे 36 द्वीपों का एक समूह है जिसकी आबादी करीब 64 हजार है। यह केंद्रशासित प्रदेश केरल के तट पर स्थित है और अपनी ज्यादातर जरूरतों के लिए इसी दक्षिणी राज्य पर निर्भर है।

लक्षद्वीप अपने प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए भी जाना जाता है। यहां के सभी 36 द्वीप समूह बहुत ही खूबसूरत हैं और बड़ी संख्या में सैलानी भी वहां पहुंचते हैं। हालांकि, इस वक्त बाहर से कोई सैलानी वहां नहीं पहुंच रहा है जो इसके अब तक कोरोना से अछूते रहने की एक बड़ी वजह है। कोरोना वायरस की वजह से लक्षद्वीप में पूरा एहतियात बरता जा रहा है। लोग मास्क लगाकर ही बाहर निकल रहे हैं।

शनिवार को सिक्किम में मिला इकलौता केस
इससे पहले, शनिवार को सिक्किम में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था। वहां दिल्ली से हाल ही में लौटे 25 साल का एक छात्र जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में हाल ही में एक नया मामला सामने आया है।

अरुणाचल में इकलौता मामला सामने आने के करीब एक महीने बाद तक कोरोना वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया था। राज्य में पहला केस 31 साल के एक युवक का था जो मार्च में दिल्ली में तबलीगी जमात के जलसे में शामिल हुआ था। वह ठीक होकर घर जा चुका है। इस बीच दिल्ली से एक बस के जरिए 33 अन्य लोगों के साथ आने वाला एक छात्र 18 मई को कोरोना पॉजिटिव निकला।

देश के बाकी हिस्सों की तुलना में पूर्वोत्तर में स्थिति बेहतर
देश के अन्य क्षेत्रों की तुलना में पूर्वोत्तर के राज्यों में कोरोना के मामले काफी कम है। मिजोरम में अब तक सिर्फ एक केस है लेकिन वहां फिलहाल एक भी ऐक्टिव केस नहीं है क्योंकि राज्य का इकलौता संक्रमित इलाज के बाद स्वस्थ हो चुका है। पूर्वोत्तर में असम सबसे बुरी तरह प्रभावित है जहां अब तक कोरोना के 467 मामले सामने आ चुके हैं। त्रिपुरा में 194 मामले, मणिपुर में 34 और मेघालय में 14 मामले हैं।

मिजोरम और अंडमान-निकोबार में एक भी ऐक्टिव केस नहीं
अभी लक्षद्वीप कोरोना से पूरी तरह मुक्त है। मिजोरम और अंडमान-निकोबार में एक भी ऐक्टिव केस नहीं हैं। मिजोरम में सिर्फ 1 संक्रमित था जो इलाज के बाद पूरी तरह ठीक हो चुका है। अंडमान-निकोबार में कुल 33 केस थे और सभी इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुका हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close