विश्व

राफेल लड़ाकू विमान पर पाकिस्तान को लगी मिर्ची, कहा- इससे बढ़ेगी हथियारों की होड़

 इस्लामाबाद 
फ्रांस से आए अत्याधुनिक लड़का विमान राफेल ने किस कदर पड़ोसियों की नींद उड़ा कर रख दिया है वह उसके दिए बयानों से समझा जा सकता है। पांच राफेल की पहली खेप 29 जुलाई को भारत के अंबाला एयरबेस पर पहुंची है। लेकिन, इसके आने के एक दिन बाद ही पाकिस्तान ने हायतौबा मचाना शुरू कर दिया है और विश्व समुदाय से गुहार लगाते हुए कहा रहा है कि इससे दक्षिण एशिया में हथियारों को होड़ बढ़ जाएगी।

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता आइशा फारूकी ने साप्ताहिक न्यूज ब्रीफिंग्स के दौरान विश्व समुदाय से आह्वान करते हुए कहा कि वह भारत को भारी हथियारों के निर्माण से रोके। भारतीय वायुसेना की तरफ से हाल में राफेल विमानों की डील पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पाकिस्तान विदेश विभाग की प्रवक्ता ने कहा कि भारत अपनी वास्तविक आवश्यकता से परे लगातार सैन्य शक्तियों को बढ़ा रहा है।

भारत ने फ्रांस के साथ 36 राफेल विमानों का सौदा करीब 59 हजार करोड़ में किया था। भारतीय वायुसेना में इसके आने से एक बडा़ गेम चेंजर माना जा रहा  है। दरअसल, फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल चीन और पाकिस्तान के दोहरे मोर्चे पर सीधी लड़ाई में निर्णायक साबित तो हो ही सकता है, साथ ही वह गैर पारंपरिक वार में भी छिपकर युद्ध कर रहे दुश्मन की मांद में घुसकर उसे नेस्तनाबूद करने की भी क्षमता रखता है। आतंकवाद, मिलिशाया वार या गृह युद्ध से प्रभावित सीरिया, लीबिया, इराक, अफगनास्तान में ऐसी ही छद्म लड़ाई में राफेल ने अचूक निशानों से अपना दमखम दिखाया है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close