बिहार

बिहार बोर्ड ने 10वीं और 12वीं में फेल 2 लाख स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स देकर किया पास 

 नई दिल्ली  
बिहार बोर्ड मैट्रिक और इंटर में एक या दो विषय में फेल दो लाख 14 हजार 287 विद्यार्थियों को ग्रेस अंक देकर उत्तीर्ण कर दिया गया है। इसमें मैट्रिक के एक लाख 41 हजार 677 और इंटर के 72 हजार 610 विद्यार्थी शामिल हैं। कोरोना संक्रमण के चलते बिहार बोर्ड ने यह निर्णय लिया है।  

वर्ष 2020 में मैट्रिक और इंटर मिलाकर कुल 3 लाख 40 हजार 633 विद्यार्थी एक और दो विषय में अनुत्तीर्ण हुए थे। इन छात्रों के लिए बिहार बोर्ड कंपार्टमेंटल परीक्षा कराता। कोरोना के कारण परीक्षा संभव नहीं है। ऐसे में बोर्ड ने कंपार्टमेंटल परीक्षा देने वाले छात्रों को ग्रेस अंक देकर उत्तीर्ण कर दिया है। छात्रों को कितना ग्रेस देकर पास किया गया है, यह जानकारी बोर्ड ने नहीं दी है। गुरुवार को बोर्ड की वेबसाइट onlinebseb.in पर उत्तीर्ण छात्रों की सूची जारी कर दी गई है। उत्तीर्ण छात्रों की सूची शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने जारी की गई। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव शिक्षा विभाग आरके महाजन और बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर मौजूद थे। 

छात्र नाम और रोल नंबर से देख सकते हैं रिजल्ट 
बोर्ड की मानें तो छात्र बोर्ड वेबसाइट पर नाम और रौल नंबर डाल कर रिजल्ट देख सकते हैं। इंटर में कुल 46,005 परीक्षार्थी एक विषय में और 86,481 परीक्षार्थी दो विषयों में फेल हुए थे। वहीं मैट्रिक में एक विषय में 1,08,459 और दो विषय में 99,688 विद्यार्थी अनुत्तीर्ण थे। 

केवल इसी साल मिली छूट
बोर्ड की मानें तो कोरोना के कारण यह निर्णय एक साल के लिए  लिया गया है। बोर्ड सूत्रों का मानना है कि अभी कोरोना के चलते दो तीन माह के बाद ही कंपार्टमेंटल परीक्षा हो सकती थी। रिजल्ट जारी होते-होते नवंबर हो जाता। ऐेसे में इंटर व उच्च शिक्षा में नामांकन लेने से छात्र वंचित हो जाते। इसी कारण छात्र हित में यह निर्णय लिया गया है। 

इंटर में कंपार्टमेंटल देने वाले कुल छात्र  –  1,32,489 
ग्रेस अंक से उत्तीर्ण हुए  –  72,610 
मैट्रिक में कंपार्टमेंटल देने वाले कुल छात्र  –  2,08,147
ग्रेस अंक से उत्तीर्ण हुए  – 1,41,677 

बिहार बोर्ड  मैट्रिक रिजल्ट में पास हुए थे 80.59 प्रतिशत स्टूडेंट्स
बिहार बोर्ड मैट्रिक 2020 रिजल्ट में कुल 80.59 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इनमें से 4,03,392 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 524217 सेकेंड डिवीजन से और 2,75,402 थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं। परीक्षा में 96.20 फीसदी मार्क्स के साथ हिमांशु राज ने टॉप किया कुल 15 लाख 29 हजार 393 परीक्षार्थियों ने फार्म भरा था। इनमें सात लाख 83 हजार 034 छात्राएं और सात लाख 46 हजार 359 छात्र शामिल थे। वहीं, बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट की बात करें, तो 24 मार्च को जारी किए गए इंटरमीडिएट में 80.44 प्रतिशत विद्यार्थी परीक्षा सफल रहे हैं। पिछले साल 79.76 प्रतिशत विद्यार्थी इंटरमीडिएट परीक्षा में बाजी मारी थी। इस तरह इस साल 0.68 प्रतिशत अधिक रिजल्ट रहा। इंटर परीक्षा में छात्राओं का एक बार फिर जलवा रहा। विज्ञान संकाय में नेहा कुमारी ने 476 अंक (95.2 फीसदी) लाकर सूबे में अव्वल रही। वहीं वाणिज्य संकाय में कौसर फातिमा और सुधांशु नारायण चौधरी  476 (95.2 फीसदी) अंक लाकर संयुक्त रूप से टॉपर बने। कला संकाय में साक्षी कुमारी ने 474 (94.80 फीसदी) अंक प्राप्त प्रथम स्थान प्राप्त किया। प्रथम श्रेणी में चार लाख 43 हजार 284, द्वितीय श्रेणी में चार लाख 69 हजार 439 और तृतीय श्रेणी में 56 हजार 115 विद्यार्थी सफल हुए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close