विश्व

चीन ने ‘सोना’ बताकर पाकिस्तान को बेचा ‘कूड़ा’ 

 
इस्लामाबाद

चीन की गोदी में बैठा पाकिस्तान उसके हाथों बार बार बेवकूफ बनता है लेकिन पाकिस्तान अपनी बेवकुफाना हरकत छोड़ने को तैयार नहीं है। इस बार पाकिस्तान को चीन ने फाइटर जेट JF-17 को लेकर से बेवकूफ बनाया है। चीन ने इस फाइटर जेट के बारे में पाकिस्तान से कहा कि उसका मेंटिनेंस खर्च बेहद कम है लेकिन जेएफ-17 पाकिस्तान के लिए हाथी बन गया है। मतलब, इस वार एयरक्राफ्ट का खर्च इतना है जिसका वहन करना पाकिस्तान के लिए सिरदर्द साबित हो रहा है।
 

जेएफ-17 के बारे में चीन ने पाकिस्तान से कहा था कि ये एक लो कॉस्ट, बेहद कम वजनी और हर मौसम में मार करने वाला मल्टी रोल वारक्राफ्ट है। लेकिन, जेएफ-17 को लेकर चीन ने पाकिस्तान से जो कुछ भी कहा, जेएफ-17 में वो कुछ नहीं है। जेएफ-17 का ऑपरेशन एंड मेंटिनेंस खर्च इतना ज्यादा है, जिसे वहन करना पाकिस्तान एयरफोर्स के लिए नामुमकिन हो गया है।

1999 में पाकिस्तान और चीन के बीच जेएफ-17 थंडर फाइटर जेट बनाने को लेकर करार हुआ था। दोनों देशों के बीच जेएफ-17 बनाने में आने वाला खर्च शेयर करने को लेकर भी करार किया गया था। पाकिस्तान मानता था कि जेएफ-17 में SU-30 MKI, MIG-29 और मिराज-2000 जैसे खासियत होंगे, जिसमें वेस्टर्न हथियार लगें होंगे लेकिन असलियत में जेएफ-17 में ऐसा कुछ नहीं है। पेंटापोस्टगामा की रिपोर्ट के मुताबिक, जेएफ-17 को बनाने और मेंटिनेंस में जितना खर्च आ रहा है, उसके मुताबिक इस फाइटर जेट में एक भी क्वालिटी नहीं है और ये पाकिस्तान की उम्मीदों को पूरा करने में पूरी तरह से नाकामयाब साबित हो रहा है।
 

Related Articles

Back to top button
Close
Close