देश

दिल्ली को 23% राजस्व का नुकसान, नई आबकारी नीति से अगले एक साल में 3000 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान : सिसोदिया

नई दिल्ली 
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि कोविड की वजह से दिल्ली के राजस्व पर भी बहुत बुरा असर रहा है। 2020-21 में जो हमारा बजट अनुमान था उससे 41% कम राजस्व मिला। 2021-22 में जो बजट अनुमान है उनसे अभी हम 23% नीचे हैं, जबकि इस साल हमने पिछले साल से भी कम अनुमान रखा था, लेकिन नई आबकारी नीति के तहत शराब की दुकानों की बोली लगाने से उसे 10,000 करोड़ रुपये का लाभ होगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने सैलरी और कोविड संबंधित खर्चों को छोड़कर सभी खर्चों पर अंकुश लगा रखा है। हमारा आकलन था कि नई एक्साइज पॉलिसी से लगभग 2000-2500 करोड़ रुपये ज्यादा रेवेन्यू मिलेगा, लेकिन इससे सरकार को अगले 12 महीने की अवधि में लगभग 3,500 करोड़ रुपये अतिरिक्त रेवेन्यू मिलेगा।

सिसोदिया ने कहा कि सरकार को शहर के 32 क्षेत्रों में शराब की दुकानों की बोली से लगभग 10,000 करोड़ रुपये हासिल करने की उम्मीद है। नई आबकारी नीति के तहत शराब की दुकानों की बोली से हमें 10,000 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त होगा। हमें शहर के 32 क्षेत्रों के लिए लगभग 225 बोलियां मिली हैं। उन्होंने कहा कि 2019-20 में हमें जो राजस्व मिला यह उससे लगभग 3,500 करोड़ रुपये अतिरिक्त होगा। वित्तीय वर्ष 2019-20 में सरकार ने शराब की दुकानों की बोली से 6,300 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया था। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त राजस्व आबकारी नीति में सुधार का परिणाम है क्योंकि पहले इस तरह के राजस्व की चोरी हो जाती थी। 

Related Articles

Back to top button
Close
Close