मध्य प्रदेश

पासपोर्ट: पिछले साल की तुलना में 34 % ज्यादा आए आवेदन

भोपाल
कोरोना काल में भले ही अन्य सर्विसेस प्रभावित रही हों,लेकिन पासपोर्ट सर्विस में इसका असर देखने को कम ही मिला। इसकी पुष्टि इस साल प्राप्त आवेदनों से होती है क्योंकि एक तरफ कोरोना का संकट दूसरी तरफ सेवाओं की बेहतर डिलेवरी करना किसी चुनौती से कम नहीं होता है।

गौरतलब है कि प्रदेशभर में भोपाल, इंदौर सहित पासपोर्ट सेवा के  18 सेंटर संचालित हो रहे हैं। इनमें से फ्रेश कैटेगरी के साथ-साथ रेन्यूअल भी शामिल हैं। पासपोर्ट कार्यालय के मुताबिक इस वर्ष  पिछले साल की तुलना की 34 फीसदी ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए हैं। पिछले साल जहां 51 हजार आवेदन प्राप्त हुए थे। वहीं इस साल जनवरी के लेकर एक अक्टूबर तक 77 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। यानि की 26 हजार आवेदन ज्यादा। आपको बता दें कि इसमें भी भोपाल और इंदौर के सेंटरों में ही एक तिहाई आवेदन प्राप्त हुए हैं।

डिजिटलाइजेशन के चलते बढ़े आवेदन
दरअसल कोरोना के चलते पासपोर्ट के आवेदन के नियमों में थोड़ी ढील दी गई थी। साथ ही डिजिटलाईजेशन को बढ़ावा दिया गया। जैसे डिजी लॉकर से डॉक्यूमेंट्स वेरीफिकेशन की सुविधा। इसके अलावा आवेदक साल भर में निर्धारित शुल्क जमा कर कितनी भी बार आवेदन को रि-शेड्यूल कर सकता है।  पहले यह सुविधा केवल तीन बार ही मिलती थी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close