उत्तर प्रदेश

भीड़ की कवरेज पर भड़के समर्थक, भाजपा विधायक समेत 15 पर केस

बदायूं
सत्तारुढ़ दल के नेता और तमाम दावेदार पुलिस प्रशासन के लिये चुनौती बने हुये है। पुलिस गांव-गांव जाकर जनता को आचार संहिता का संदेश दे रही है। इसके उलट नेता आदर्श आचार संहिता का जमकर मखौल उड़ा रहे है। नुक्क्ड़ जनसभा के आयोजन के दौरान जुटी भीड़ की कवरेज करने पहुंचे एक टीवी चैनल के मीडियाकर्मी बिसौली विधायक के समर्थकों का शिकार हो गया। समर्थकों ने कैमरा और मोबाइल तोड़ दिया। पत्रकार द्वारा ट्विटर पर मारपीट और तोड़फोड़ का वीडियो अपलोड करने के बाद हरकत में आयी कोतवाली पुलिस ने बिसौली विधायक कुशाग्र सागर समेत 15 नामजद और अज्ञात में मुकदमा दर्ज कर लिया है। बिसौली कोतवाली क्षेत्र के बिल्सी रोड के रहने वाले विपिन कुमार टीवी चैनल में मीडिया कर्मी हैं। तहरीर पर दर्ज मुकमदे के मुताबिक, शुक्रवार रात तकरीबन 9:45 बजे उन्हें जानकारी मिली कि मोहल्ला कच्ची सराय पुरानी टंकी वाली गली वार्ड 17 में फहीम के यहां पर भाजपा प्रत्याशी बिसौली विधायक कुशाग्र सागर की जनसभा का आयोजन किया जा रहा है। जिसकी वह कवरेज करने पहुंचे थे। जनसभा में कोविड गाइड लाइन का पालन नहीं किया था। आरोप है इस दौरान बिसौली विधायक के इशारे पर उनके समर्थकों ने हमला कर दिया। समर्थकों ने उनके साथ मारपीट करते हुऐ गाली गलौज की। इसके अलावा मोबाइल व कैमरा भी तोड़ दिया।

पुलिस से इस घटनाक्रम की तहरीर पर बिसौली विधायक कुशाग्र सागर, राजू कोली, नितिन मिश्रा, नगर अध्यक्ष युवा मोर्चा अभिषेक शर्मा, दीपक शाक्य, मकसुदी, इश्तियाक, इजहार फहीम, जाकिर पुत्र कल्लू, जाकिर पुत्र इमरान, राशिद, महबूब, ओबेशी, चुन्नू और सादिक के खिलाफ बिसौली कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमे में अचार संहिता उल्लंघन के अलावा बलवा, धमकी, मारपीट आदि धाराएं लगी है। बिसौली कोतवाल ऋषि पाल सिंह का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। वीडियो में उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जायेगी।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close