विश्व

नाइजीरिया में 18.5 मिलियन बच्चे शिक्षा से वंचित : UNICEF

जिनेवा
 नाइजीरिया में लड़कियों की स्कूली शिक्षा बेहद खराब है। देश में करीब 18.5 मिलियन से अधिक बच्चे स्कूली शिक्षा से वंचित हैं। इसमें 60 प्रतिशत संख्या लड़कियों की है। संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने बताया कि असुरक्षा की वजह से यहां शिक्षा के क्षेत्र में लैंगिक असमानता बढ़ रही है। एक साल में स्कूली शिक्षा से वंचित बच्चों की संख्या करीब दोगुनी हो चुकी है। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल, अफ्रीका के सबसे अधिक आबादी वाले देश में स्कूल न जाने वाले बच्चों के मामलों में एक आश्चर्यजनक वृद्धि है। यूनिसेफ ने पिछले साल 10.5 मिलियन रिपोर्ट किया था।

यूनिसेफ ने दी जानकारी, संख्या हुई दो गुनी

उत्तरी शहर कानो में यूनिसेफ के कार्यालय प्रमुख रहमा फराह ने बताया कि नाइजीरिया में 18.5 मिलियन स्कूली बच्चे हैं, जिनमें से 60 प्रतिशत लड़कियां हैं। उन्होंने कहा कि स्कूलों पर जिहादियों और फिरौती के लिए अपहरण करने वाले आपराधिक गिरोहों के हमलों की वजह से बच्चे स्कूल जाना छोड़ रहे हैं। आपराधिक गतिविधियों के बढ़ने से स्कूली शिक्षा से वंचितों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है।

स्कूली छात्राओं का हो रहा है अपहरण

बोको हराम के जिहादियों ने 2014 में उत्तरपूर्वी शहर चिबोक से 200 से अधिक स्कूली छात्राओं का अपहरण कर लिया था, इसी तरह के सामूहिक अपहरण में दर्जनों स्कूलों को निशाना बनाया गया है। यूनिसेफ का कहना है कि पिछले साल बंदूकधारियों ने करीब 1,500 स्कूली बच्चों का अपहरण कर लिया था, जिसमें 16 छात्रों की जान चली गई थी। अधिकांश युवा बंधकों को बातचीत के बाद रिहा कर दिया गया है लेकिन कुछ अभी भी जंगल के ठिकाने में कैद हैं।

असुरक्षा की वजह से 2020 में 11000 से अधिक स्कूल बंद

यूनिसेफ ने पिछले महीने कहा था कि दिसंबर 2020 से असुरक्षा के कारण नाइजीरिया में 11,000 से अधिक स्कूल बंद हो गए हैं। यूनिसेफ की स्थानीय प्रमुख फराह ने कहा कि माता-पिता भी अपने बच्चों को खुले में पढ़ने के लिए भेजने से डरते हैं। फराह ने कहा कि इन हमलों ने एक असुरक्षा का माहौल बना दिया है। माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल भेजने से डर रहे हैं। वह शिक्षा के प्रति हतोत्साहित हो रहे हैं। छात्र भी स्कूल आने से डरते हैं।

बाल विवाह और कम उम्र में गर्भवती की चेतावनी

पूरे उत्तरी नाइजीरिया में स्कूलों को बंद करने के बाद, यूनिसेफ ने बाल विवाह और जल्दी गर्भधारण के मामलों में वृद्धि के खिलाफ चेतावनी दी है। यूनिसेफ के अनुसार मुस्लिम गरीब परिवारों की स्थितियां बेहद खराब हं। सामूहिक अपहरण के पहले चार में से एक ही लड़की जूनियर हाईस्कूल तक की शिक्षा हासिल कर पा रही है। अब असुरक्षा लैंगिक असमानता को और बढ़ा रहा है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close