मध्य प्रदेश

मूंगदाल फसल की सिंचाई के लिये संभावित लोड का आकलन कर स्वतः संज्ञान से लगाया ट्रांसफार्मर

भोपाल

होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा क्षेत्र में किसानों द्वारा बड़ी मात्रा में लगाई गई मूंगदाल की फसल को दृष्टिगत रखते हुये और इसके लिये 132 के.व्ही. सबस्टेशन सिवनी मालवा में संभावित लोड़ बढ़ोत्तरी का आंकलन कर मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने जनहित में स्वतः पहल करते हुये 132 के.व्ही. सबस्टेशन सिवनी मालवा में एक 63 एम.व्ही.ए. ट्रांसफार्मर की स्थापना कर ऊर्जीकृत किया। इसके कारण 132 के.व्ही. सबस्टेशन सिवनी मालवा से जुडे 33 के.व्ही. के फीडरों को पर्याप्त बिजली मिल सकी। मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के ट्रांसफार्मर ओवर लोडिंग के कारण इस क्षेत्र में कहीं भी कोई व्यवधान नही हुआ।

मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के परीक्षण एवं संचार संकाय के मुख्य अभियंता राजेश श्रीवास्तव, ने बताया कि सिवनी मालवा 132 के.व्ही. सबस्टेशन की क्षमता पहले 80 एम.व्ही.ए. थी। इस सबस्टेशन की लोड स्टडी से यह संज्ञान में आया कि क्षेत्र में बडे पैमाने पर किसानों ने मूंगदाल की फसल लगाई है जिसके कारण लोड ग्रोथ हो रहा है। पीक डिमांड के समय 80 एम.व्ही.ए. की क्षमता पर्याप्त लोड डिमांड पूरा करने में सक्षम नही हो पाती और दिक्कत आ सकती है। यह संज्ञान में आते ही मुख्य अभियंता राजेश श्रीवास्तव ने सिवनी मालवा के लिये नये अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर को स्वीकृत करा कर ऊर्जीकृत कराने का प्रबंध किया।

होशंगाबाद जिले की पारेषण क्षमता में वृद्धि

इस नये ट्रांसफार्मर के लगने से होशंगाबाद जिले की पारेषण क्षमता में भी वृद्धि हुई है। मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी अपने तीन 220 के.व्ही. सबस्टेशन होशंगाबाद इटारसी व पिपरिया तथा 132 के.व्ही. के 6 सबस्टेशन पिपरिया, बनखेड़ी, सेमरी हरचंद, सोहगपुर, तथा सिवनी मालवा के माध्यम से होशंगाबाद जिले में विद्युत आपूर्ति करती है। इस समय जिले की कुल ट्रांसफारमेशन कैपेसिटी बढ़कर 1822 एम.व्ही.ए. की हो गई है। इसमें 1080 एम.व्ही.ए. 220 के.व्ही. साइड तथा 742 एम.व्ही.ए. 132 के.व्ही. साइड है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close