छत्तीसगढ़

विद्यालयों में अनुशासन का पूरी कर्तव्यनिष्ठा से पालन हो – आबिदी

रायपुर
आदिम जाति विभाग की आयुक्त श्रीमती शम्मी आबिदी ने एकलव्य विद्यालयों के बेहतर संचालन के संबंध में आज प्राचार्याे एवं छात्रावास अधीक्षकों की संयुक्त बैठक लेकर बस्तर संभाग में संचालित 29 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की समीक्षा की। बैठक में आयुक्त श्रीमती शम्मी आबिदी ने विद्यालयों में अनुशासन का पूरी कत्र्तव्यनिष्ठा से पालन करने के निर्देश प्राचार्यों एवं छात्रावास अधीक्षकों को दिए। उन्होंने नए शैक्षणिक सत्र 2022-23 में विद्यालयों में बच्चों की शत-प्रतिशत उपस्थिति, 10वीं एवं 12वीं बोर्ड में बेहतर परीक्षा परिणाम लाने एवं सुचारू रूप से कक्षाएं संचालित करने हेतु भी निर्देशित किया। बैठक आदिम जाति अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान के सभाकक्ष में आयोजित की गई।

श्रीमती आबिदी ने कहा कि बच्चों को सभी विषयों की कॉपी-किताबें, गणवेश, जूता-मौजा आदि भी शीघ्र उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए। विद्यालयों में अच्छी लाइब्रेरी, कम्प्यूटर लैब आदि की भी व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि अध्ययनरत बच्चों को अच्छा एवं पौष्टिक भोजन मिले इसके लिए मेस का निर्धारित मीनू अनुसार संचालन किया जाए। सभी एकलव्य विद्यालयों में स्टॉक पंजी एवं अन्य समस्त पंजियों का भी उचित प्रकार से संधारण किया जाए। श्रीमती आबिदी ने सभी एकलव्य विद्यालयों में नेत्र परीक्षण संबंधी एक कैम्प आयोजित कराने के निर्देश दिए। सभी एकलव्य विद्यालयों की वर्षभर की उपलब्धियों से संबंधित तीन माह में विद्यालयवार एवं छह माह में राज्य स्तर पर बुकलेट प्रकाशित करने के निर्देश भी दिए।

आयुक्त श्रीमती आबिदी द्वारा बैठक में उपस्थित बस्तर संभाग के सभी 29 एकलव्य विद्यालयों के प्राचार्यों एवं छात्रावास अधीक्षकों के साथ विद्यालयवार पीपीटी के माध्यम से समीक्षा की। उन्होंने विद्यालयों के संचालन में आ रही समस्याओं का निराकरण करने मार्गदर्शन दिया गया और सुझाव भी लिए गए। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 73 एकलव्य विद्यालयों के बेहतर संचालन के उद्देश्य से संभागवार तीन चरणों में प्राचार्यों एवं छात्रावास अधीक्षकों की बैठक नवा रायपुर आयोजित की गई है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close