राजनीति

सात शहरों में भाजपा का कब्जा, छिंदवाड़ा में कांग्रेस, सिंगरौली से आप का महापौर

भोपाल
प्रदेश के 11 नगर निगम में से सात पर भाजपा ने अपना कब्जा बरकरार रखा है। जबकि उसे चार सीटों से हाथ धोना पड़ा। कांग्रेस ने उससे जबलपुर, ग्वालियर और छिंदवाड़ा नगर निगम का महापौर का पद छीन लिया है। वहीं सिगरौली महापौर पर आम आदमी पार्टी ने जीत दर्ज कर मध्य प्रदेश में अपनी एंट्री कर ली है। रविवार को 11 नगर निगमों की मतगणना हुई थी। इंदौर और भोपाल में परिणाम रात को आए, जबकि शाम तक बाकी 9 नगर निगमों का चुनाव परिणाम सामने आ चुके थे।

कमलनाथ ने बचाया अपना गढ़
प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने गढ़ छिंदवाड़ा को बचा लिया। यहां से कांग्रेस के विक्रम अहके ने भाजपा के अनंत धुर्वे को 3 हजार 786 वोटों से हरा दिया। कमलनाथ ने नगरीय निकाय के चुनाव में प्रचार के लिए सबसे ज्यादा समय इसी सीट पर दिया था। वहीं ग्वालियर में कांग्रेस ने नगर निगम में 57 साल बाद अपना परचम लहराया। यहां पर कांग्रेस की शोभा सिकरवार ने जीत दर्ज की। उन्होंने भाजपा की सुमन शर्मा को हराया। इसी तरह जबलपुर सीट कांग्रेस ने भाजपा से छीन ली है। यहां पर कांग्रेस के जगत बहादुर अन्नू ने बड़े अंतर से भाजपा उम्मीदवार डॉ. जितेंद्र जामदार को हराया है।

नहीं जीत सके कांग्रेस के विधायक
कांग्रेस ने इस बार महापौर चुनाव में तीन विधायकों को मैदान में उतारा था। इंदौर से संजय शुक्ला, उज्जैन से महेश मालवीय और सतना से सिद्धार्थ कुशवाह को टिकट दिया था, लेकिन इसमें से संजय शुक्ला और सिद्धार्थ कुशवाह ने भाजपा से बड़े अंतर से हार झेली, जबकि महेश मालवीय ने जबरदस्त टक्कर दी। वे भी चुनाव हार गए।

बुरहानपुर-उज्जैन में जबरदस्त टक्कर
बुरहानपुर और उज्जैन में भाजपा और कांग्रेस के महापौर उम्मीदवारों में जबरदस्त टक्कर हुई। दोनों ही उम्मीदवार एक दूसरे से कई बार आगे-पीछे होते रहे। हालांकि बुरहानुपर में भाजपा की माधुरी पटेल ने कांग्रेस की शहनाज बानो पर 542 मतों से जीत दर्ज की। वहीं उज्जैन में भी भाजपा के मुकेश टटवाल ने कांग्रेस के महेश मालवीय को अंतिम कुछ राउंड में ही बढ़त बनाई और जीत दर्ज की। यहां पर विवाद की स्थिति भी बनी थी। कांग्रेस ने फिर से मतगणना की मांग भी की थी।

हनुमना में हार के बाद कांग्रेस प्रत्याशी की हार्ट अटैक से मौत
रीवा जिले के हनुमना में पार्षदी का चुनाव हारने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी की हार्टअटैक से मौत हो गई। वार्ड क्रमांक 9 से कांग्रेस की टिकट पर हरिनारायण गुप्ता चुनाव मैदान में थे। यहाँ निर्दलीय प्रत्याशी अखिलेश गुप्ता ने 14 मतों से कांग्रेस को पराजित किया। हरिनारायण कांग्रेस पार्टी के हनुमना मंडलम अध्यक्ष थे। हार के वक्त उन्हें अटैक आया जहां से स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और वहां के चिकित्सकों ने रीवा के लिए रेफर कर दिया। इसके बाद रीवा में उनकी मौत हो गई।

आप के आने से कांग्रेस तीसरे नंबर पर खिसकी
इधर आम आदमी पार्टी की सिंगरौली से उम्मीदवार रानी अग्रवाल ने जीत दर्ज की है। उन्होंने भाजपा के चंद्र प्रताप विश्वकर्मा को 9 हजार 352 वोट से हराया। यहां पर कांग्रेस तीसरे नंबर पर पहुंच गई।

भाजपा को लगा झटका
भाजपा को नगर निगम महापौर को लेकर झटका लगा है। उसके कब्जे की 11 नगर निगमों में से 4 नगर निगम कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की झोली में चली गई। भाजपा ने इंदौर में सबसे बड़ी जीत दर्ज की। भाजपा की ओर से मेयर केंडिडेट पुष्यमित्र भार्गव  पहले ही राउंड से कांग्रेस उम्मीदवार संजय शुक्ला से बढ़त बनाए हुए थे। वहीं भोपाल से भाजपा की महापौर उम्मीदवार मालती राय भी पहले ही राउंड से कांग्रेस उम्मीदवा विभा पटेल से आगे चलती रही। इसी तरह खंडवा से भाजपा की अमृता अग्रवाल ने जीत दर्ज की है। उन्होंने कांग्रेस की आशा मिश्रा को 19 हजार से अधिक मतों से पराजित किया। इसी तरह सागर में भाजपा की संगीता तिवारी ने कांग्रेस की निधि जैन को 12 हजार 714 मतों से हराया। वहीं सतना से भाजपा के योगेश ताम्रकार ने कांग्रेस के सिद्धार्थ कुशवाह को 24 हजार 916 वोटों से पराजित किया।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close