देश

दुबई के लोग भी चखेंगे चौंसा और लंगड़े का स्‍वाद, सीएम ने पहली खेप को दिखाई झंडी

देहरादून
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय से एपिडा के माध्यम से उत्तराखंड में उत्पादित आम की प्रथम खेप, शहद एवं राजमा के अंतरराष्ट्रीय बाजार (International Market) में निर्यात (Export) के लिए भेजे जा रहे वाहनों का फ्लैग आफ किया। इस दौरान 1.5 टन आम, 28 टन राजमा एवं 80 टन शहद का अन्तरराष्ट्रीय बाजार के लिए निर्यात किया गया।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में उत्‍तराखंड भेज रहा अपने उत्पाद
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कृषि और प्रसंस्‍कृत खाद्य उत्‍पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपिडा) के सहयोग से अंतरराष्ट्रीय बाजार के लिए राज्य के जो उत्पाद भेजे जा रहे हैं, यह सराहनीय पहल है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में उत्तराखंड के स्थानीय उत्पादों (Uttarakhand Local Products)की अन्तरराष्ट्रीय मार्केटिंग के लिए गुणात्मक वृद्धि होगी।

ब्रांडिंग, पैकेजिंग और मार्केटिंग पर विशेष ध्यान
उत्पादन को कैसे अच्छी मार्केटिंग मिले इस दिशा में सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। उत्पादों की ब्रांडिंग, पैकेजिंग और मार्केटिंग (Branding Packaging and Marketing) पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे स्थानीय उत्पादों को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले इसके लिए और अधिक प्रयासों की जरूरत है।

कृषकों की आर्थिकी बढ़ाने के लिए हो रहे प्रयास
राज्य में किसानों की आजीविका (Farmers Income) को बढ़ाने के लिए एवं आवश्यक सभी व्यवस्थाओं को और प्रभावी बनाने के लिए कृषि कलेंडर भी बनाया गया है। उत्तराखंड के छोटे कृषकों की आर्थिकी को बढ़ाने के लिए कलस्टर के विकास के लिए, सहकारिता, कृषि एवं उद्यान विभाग के माध्यम से अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट से पूर्व कृषि क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ संवाद किया गया।

किसानों की आय दुगुनी करने का संकल्प
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की आय दुगुनी (Farmers Income Double) करने का जो संकल्प लिया है, उस संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाने के लिए उत्तराखंड में राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रयास किये जा रहे हैं। केंद्र एवं राज्य सरकार की कृषि कल्याण से संबंधित योजनाओं को समाज के अंतिम पंक्ति के लोगों तक पहुंचाया जा रहा है।

2025 में उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस की रजत जयंती मनाएगा, तब तक किसानों की आजीविका वृद्धि के लिए कृषि, उद्यान, सिंचाई एवं अन्य संबंधित विभाग पायलट प्रोजेक्ट के रूप में क्या कर सकते हैं, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।
राज्य के रजत जयंती वर्ष पर सभी विभागों को कुछ ऐसे कार्य करने होंगे, जो देश एवं हिमालयी राज्यों के लिए माडल हों। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में जल्द किसान प्रोत्साहन योजना लाई जाएगी।

किसानों के लिए अनेक योजनाएं संचालित
कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में केद्र सरकार की ओर से एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड जब राज्य स्थापना दिवस की रजत जयंती मनाएगा, तब तक कृषि एवं उद्यान के क्षेत्र में राज्य में उत्पादन दोगुना किए जाने का लक्ष्य रखा गया है।
किसानों को उच्च गुणवत्तायुक्त पौध उपलब्ध कराने के लिए नर्सरी बनाई जा रही है।

उत्पादों के वैल्यू एडिशन पर विशेष ध्यान
सचिव कृषि शैलेश बगोली ने कहा कि राज्य के उत्पादों को बढ़ावा देने के साथ ही उत्पादों को अच्छा मार्केट मिले इस दिशा में लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। उत्पादों के वैल्यू एडिशन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

राज्य से प्रथम बार राज्य के कास्तकारों द्वारा उत्पादित आम की चौंसा एवं लंगड़ा प्रजातियों के उच्च गुणवत्तायुक्त फलों का निर्यात दुबई को किया जा रहा है।
किसान उत्पादक संगठनों द्वारा उत्पादित उच्च गुणवत्तायुक्त शहद का निर्यात संयुक्त राज्य अमेरिका को किया जा रहा है।
राजमा के निर्यात को बढ़ावा देते हुए राज्य के कृषकों द्वारा उत्पादित उच्च गुणवत्तायुक्त राजमा का निर्यात भी संयुक्त राज्य अमेरिका को किया जा रहा है।

इस अवसर पर अपर सचिव कृषि रणवीर सिंह चौहान, निदेशक उद्यान डा. एचएस बवेजा, निदेशक कृषि श्री गौरी शंकर, एपिडा के रीजनल हेड डा सीबीसिंह, कृषि एवं उद्यान विभाग के अधिकारी तथा कृषकगण उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close