मनोरंजन

बिग बॉस के पहले सीजन की ‘खास’ कंटेस्टेंट रहीं अभिजाता उमेश, 2014 में कर लिया था सुसाइड

टीवी के सबसे विवादित रिएलिटी शो 'बिग बॉस' में वैसे तो फिल्म और टीवी सिलेब्रिटीज ही कंटेस्टेंट्स के रूप में नजर आते हैं, लेकिन शो का 10वां सीजन ऐसा था, जिसमें कई सारे कॉमनर्स दिखे। वह सीजन एक कॉमनर यानी मनवीर गुर्जर ने जीता था। लेकिन आज हम आपको बिग बॉस के इतिहास के पहले एक ऐसे कॉमनर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने एक शो में एक जासूस के रूप में एंट्री की थी। इस कंटेस्टेंट के परिवार का बिल भी चैनल भरता था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चैनल ने इस कंटेस्टेंट के परिवार को मुंबई में रहने के लिए एक फ्लैट भी दिया था। क्या आप जानते हैं कि हम किसकी बात कर रहे हैं?

यह कंटेस्टेंट थीं रागिनी शेट्टी, जिनका असली नाम अभिजाता उमेश था। रागिनी Bigg Boss के पहले सीजन में नजर आई थीं। इस सीजन को बॉलीवुड एक्टर अरशद वारसी ने होस्ट किया था। अरशद वारसी ने रागिनी शेट्टी यानी अभिजाता उमेश को साउथ की एक पॉपुलर एक्ट्रेस बताकर सबसे इंट्रोड्यूस करवाया था। अभिजाता उमेश को भी बिग बॉस ने भी कुछ ऐसा टास्क दिया था, जिसके तहत उन्हें घरवालों को विश्वास दिलाना था कि वह साउथ की बड़ी सिलेब्रिटी हैं। ऐसा करके अभिजाता उमेश घरवालों की जासूसी करतीं और दर्शकों को उनके बारे में बतातीं। इस लिहाज से अभिजाता 'बिग बॉस' के पहले सीजन की बेहद अहम कंटेस्टेंट थीं।

जासूस बनकर की एंट्री, भारी पड़ गई 'जासूसी'
रागिनी शेट्टी यानी अभिजाता उमेश 'बिग बॉस' की सबसे खास कंटेस्टेंट थीं, लेकिन 'जासूस' होना ही उन्हें बिग बॉस के घर में भारी पड़ गया। रागिनी शेट्टी से बिग बॉस के घर का कोई भी सदस्य बात नहीं करता था। इस वजह से अभिजाता खूब रोती थीं। एक तरफ अभिजाता उमेश को अपनी असली पहचान छिपाना मुश्किल हो रहा था और दूसरी ओर उन्हें घरवालों का बर्ताव भारी पड़ रहा था। अभिजाता उमेश की जब ऐसी हालत परिवार ने देखी तो उन्हें शो से निकालने का प्लान बनाया।

मां ने शो से निकलवाने के लिए करवाई थी वोटिंग, चैनल ने उठाया था खर्च
अभिजाता उमेश ने साल 2006 में 'मुंबई मिरर' को दिए इंटरव्यू में बताया था कि उनकी मां ने उन्हें बिग बॉस से बाहर निकलवाने के लिए परिवार के बाकी सदस्यों से 50 हजार वोट दिलवाए। अभिजाता उमेश की मां की कोशिश थी कि बेटी को शो से एलिमिनेट करवाने के लिए जितने ज्यादा वोट हों, उतना ही अच्छा। रागिनी शेट्टी ने बताया था कि उन्हें चैनल ने हायर किया था। यही नहीं चैनल (जिस पर बिग बॉस टेलिकास्ट होता था) ने अभिजाता के परिवार को लोखंडवाला में एक फ्लैट भी दिया था। यही नहीं अभिजाता उमेश के इविक्शन का बिल भी चैनल ने ही भरा था।

अभिजाता उमेश ने बिग बॉस के घर से बाहर आने के बाद अपने करियर के लिए बहुत सपने देखे थे। उन्होंने न्यू यॉर्क फिल्म अकेडमी से फिल्ममेकिंग की पढ़ाई की। इसके बाद अभिजाता ने चेन्नै में Szerelem Productions नाम से अपना प्रोडक्शन हाउस खोला था। लेकिन मौत ने अभिजाता उमेश के सारे सपने तोड़ दिए। रागिनी शेट्टी ने कुछ साल बाद 2014 में सुसाइड कर लिया। अभिजाता ने किस वजह से सुसाइड किया, यह वजह कभी सामने नहीं आ पाई। लेकिन हां, मौत से एक दिन पहले अभिजाता उमेश ने अपने फेसुबक अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर किया था, जिसमें उन्होंने भावुक होते हुए लिखा था कि जिंदगी वैसे नहीं चलती जैसे हम चाहते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close