मध्य प्रदेश

ग्राम में ही राशन मिलने से खुश है जनजातीय वर्ग के हितग्राही

भोपाल

मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना

"मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम" योजना से जनजातीय वर्ग के हितग्राहियों को उनके अपने ही ग्राम में राशन उपलब्ध होने से बड़ी राहत मिली है। पहले पंचायत मुख्यालय या अन्य दूर गाँव से राशन लेकर आना पड़ता था। योजना के शुरू होने से अब ग्रामीणों को गाँव में ही आसानी से राशन मिलने लगा है। शासन द्वारा जनजातीय युवा बेरोजगारों को ऋण और अनुदान उपलब्ध कराते हुए वाहन खरीदवाये गये हैं। इन्हीं वाहनों से युवा गाँव-गाँव जाकर राशन वितरण का काम कर रहे हैं। इससे गाँव वालों को अपने गाँव में ही राशन और युवाओं को अपने परिवार की जीविकोपार्जन का आधार मिला है।

ग्रामवासियों में खुशी की लहर

नर्मदापुरम जिले के विकासखंड केसला की ग्राम पंचायत जमानी के गाँव मानागाँव में "मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम" योजना में गाँव में ही राशन मिलने से गाँव के लोग खुश है। मानागाँव की सुरेखा उइके ने बताया कि- पहले उन्हें राशन लेने के लिए 4 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत जमानी जाना पड़ता था। वहाँ पहले से ही भीड़ रहती थी। कोई साधन नहीं होता तो राशन लाना मुश्किल होता था। अब राशन वाहन गाँव में ही राशन लेकर आ रहा है। इससे बहुत सहुलियत हो गयी है। घर का कोई भी व्यक्ति जाकर राशन ले सकता है। योजना से हमें बहुत फायदा है। सब गाँव वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभारी हैं, जिन्होंने हमारी दिक्कत को समझा और गाँव में ही राशन का वाहन पहुँचा दिया। हमें नियमित रूप से गाँव में ही राशन मिलने से समय और किराये की बचत हो रही है। कुछ ऐसी ही खुशी गाँव के अन्य लोगों ने भी जाहिर की है।

केसला ब्लाक में पाँच सेक्टर

विकासखंड केसला में योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए क्षेत्र को 5 सेक्टर में बाँटा गया है। केसला के 5 युवा जनजातीय बेरोजगार सर्वदिनेश कवड़े, हरनाम सिंह, धर्मेन्द्र बरकड़े, सतीश उड़के और अजय कान्त कवड़े का चयन कर वाहन उपलब्ध कराया गया। विकासखंड के 73 ग्रामों के 5730 हितग्राहियों को सीधे उन्हीं के ग्राम में राशन वितरण शुरू हो चुका है। इससे सैकड़ों जनजातीय परिवार लाभान्वित हो रहे है। वर्तमान में मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में पात्र परिवारों को 5 किलो प्रति सदस्य, अन्त्योदय परिवारों को 35 किलो गेहूँ, चावल एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में 5 किलो प्रति सदस्य चावल का वितरण किया जा रहा है। साथ ही अन्त्योदय परिवारों को प्रति परिवार 1 किलो शक्कर एवं सभी परिवारों को 1 किलो नमक का प्रदाय किया जा रहा है।

 

Related Articles

Back to top button