देश

शाहीन बाग में कांग्रेस नेता की ‘गुंडई’, दिल्ली पुलिस के SI से सरेआम गाली-गलौज और हाथापाई

 नई दिल्ली 

अक्सर सुर्खियों में रहने वाला दिल्ली का शाहीन बाग आज एक बार फिर चर्चा में हैं। शाहीन बाग इलाके में रहने वाले कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी से कथित तौर पर गाली-गलौज और धक्का-मुक्की कर विवादों में आ गए हैं। आसिफ खान की बेटी दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) का चुनाव लड़ रही है।

दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ खान से जब राज्य चुनाव आयोग की अनुमति के बिना एक सभा आयोजित करने के बारे में पूछताछ की गई तो वह एक सब-इंस्पेक्टर पर भड़क गए। उन्होंने माइक पर ही सब-इंस्पेक्टर के बारे में अपशब्दों का इस्तेमाल किया। आसिफ खान ने सब-इंस्पेक्टर को न सिर्फ गालियां दीं, बल्कि उनके हाथापाई और धक्कामुक्की भी की गई।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। दिल्ली भाजपा नेता तजिंदर सिंह बग्गा ने भी अपने ट्विटर हैंडल से यह वीडियो शेयर किया है। इस घटना के संबंध में आसिफ खान के खिलाफ शाहीन बाग थाने में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 186 और 353 (सरकारी कर्मचारी को उसके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

डीसीपी (दक्षिण पूर्व) ईशा पांडे ने दावा किया कि इलाके से कांग्रेस उम्मीदवार अरीबा खान के पिता आसिफ खान तैय्यब मस्जिद के सामने करीब 20-30 लोगों की सभा को संबोधित कर रहे थे। जब एक सब-इंस्पेक्टर अक्षय ने उनसे पूछा कि क्या उन्होंने बैठक के लिए अनुमति ली है, तो आसिफ खान सब-इंस्पेक्टर पर भड़क हो गए और उनके साथ दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया।

वहीं, आरोपी आसिफ खान ने दावा किया कि वह यह जानने के बाद तैय्यब मस्जिद पहुंचे थे कि दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के चुनावों में 'आप' के उम्मीदवार ने वोट खरीदने के लिए पैसे का इस्तेमाल किया था। उन्होंने दावा किया कि जब मैंने इसका विरोध किया, तो स्थानीय पुलिसकर्मियों ने मुझे सच बोलने से रोकने की कोशिश की।

घटना का एक कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें आसिफ खान को एक सभा को संबोधित करते हुए देखा जा सकता है, जबकि सब-इंस्पेक्टर उन्हें रोकने की कोशिश कर रहे हैं। दिल्ली में एमसीडी चुनाव 4 दिसंबर को होने हैं, जबकि मतगणना 7 दिसंबर को होगी। 
 

Related Articles

Back to top button