खेल

रिंकू सिंह अगले साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप 2024 में फिनिशर के स्थान के लिए “दावेदार” के रूप में उभरे: आशीष नेहरा

नई दिल्ली
भारतीय पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने रिंकू सिंह को लेकर बड़ी बात कह दी है। उनका मानना है कि रिंकू अगले साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप 2024 में फिनिशर के स्थान के लिए "दावेदार" के रूप में उभरे हैं। हालांकि नेहरा का यह भी मानना है कि रिंकू को इस पोजिशन के लिए साथी खिलाड़ियों से कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है। बता दें, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी टी20 सीरीज में रिंकू ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया है। अभी तक खेले 4 मुकाबलों में रिंकू के बल्ले से 99 की औसत और 190.38 के लाजवाब स्ट्राइक रेट के साथ 99 रन निकले हैं।

आशीष नेहरा ने रिंकू सिंह को लेकर जियो सिनेमा से कहा 'इसमें कोई शक नहीं है कि रिंकू सिंह भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में शामिल होने के दावेदार हैं। लेकिन वर्ल्ड कप अभी भी दूर है और जिस स्थान के लिए वह लड़ रहे हैं वहां कई चुनौती देने वाले खिलाड़ी हैं।'

पूर्व क्रिकेटर ने आगे कहा, 'आप जितेश शर्मा (विकेटकीपर-बल्लेबाज) और तिलक वर्मा को देख सकते हैं। हमें उन पोजिशन पर चर्चा करनी होगी जहां श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव और हार्दिक पांड्या खेलेंगे। इसलिए, हमें यह देखना होगा कि 15 खिलाड़ियों के स्क्वॉड में कितने स्थान उपलब्ध हैं। लेकिन एक बात निश्चित है, उसने (रिंकू) सभी की आंखें खोल दी हैं और सभी को दबाव में डाल दिया है। लेकिन अभी भी बहुत समय बाकी है। साउथ अफ्रीका दौरे के बाद आईपीएल भी बाकी है।' नेहरा ने युवा भारतीय तेज आक्रमण का बचाव किया, जिनकी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले तीन टी20I में 200 से अधिक का स्कोर बनाने के लिए आलोचना हुई। पांच मैचों की इस सीरीज के लिए टीम में दिग्गज मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज शामिल नहीं हैं, वर्ल्ड कप के बाद उन्हें आराम दिया गया है।
 
पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा 'पहले तीन मैचों की परिस्थितियां अलग थीं और बहुत सारे गेंदबाज बदल गए हैं। आपके अनुभवी गेंदबाजों जैसे मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज को आराम दिया गया है। अगर आप अवेश खान और मुकेश कुमार के बारे में बात करते हैं, तो उन्हें हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से परिचित कराया गया है और फिर हमने पहले तीन मैचों में 200 से अधिक रन बनाए हैं। इसलिए, ऐसा नहीं है कि केवल भारतीय गेंदबाजों ने ही रन लुटाए, यहां तक कि ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने भी खूब रन दिए हैं।'
 उन्होंने साथ ही कहा 'इन परिस्थितियों में, मुकेश कुमार भारत के लिए बड़े सकारात्मक रहे हैं। जिस तरह से उन्होंने गीली गेंदों के साथ गेंदबाजी की है, यॉर्कर और डेथ ओवरों में उनकी गेंदबाजी शानदार रही है।'