राजनीति

कांग्रेस ने सनातन विरोधी नेताओं को पार्टी से नहीं निकला तो इसकी हालत भी AIMIM जैसी हो जाएगी : आचार्य प्रमोद

नईदिल्ली
चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आ रहे हैं। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी बढ़त बनाये हुए है। भाजपा कार्यकर्ता जबरदस्त उत्साह में दिखाई दे रहे हैं। वहीं सुबह से जश्न मना रहे कांग्रेस कार्यकर्ता अब निराश हो गए हैं। कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने इशारों-इशारों में अपनी ही पार्टी पर तंज कसा है।

तीनों राज्यों में कांग्रेस की बढ़त पर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है, ‘सनातन का श्राप ले डूबा।’ आचार्य प्रमोद ने कहा, ‘कांग्रेस को सनातन विरोधी के तौर पर भी जाना जाने लगा है। कांग्रेस ने अगर सनातन विरोधी नेताओं को पार्टी से नहीं निकला तो इसकी हालत भी AIMIM जैसी हो जाएगी।’ आचार्य प्रमोद ने कहा कि भारत भावनाओं का देश है, सनातन का विरोध हमें ले डूबा।

आचार्य प्रमोद ने यह भी कहा, ‘जातिवादी राजनीति और सनातन का विरोध हमें ले डूबा। जिन राज्यों में कांग्रेस हार रही है, अगर उनमें शर्म है तो वहां के प्रभारी को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए।’ आचार्य प्रमोद का यह ट्वीट और बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिस पर तमाम लोगों प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

एक ने लिखा, ‘कभी-कभी आप इतना सच क्यों बोल देते हो आचार्य जी?’ आनंद शेखर झा ने लिखा, ‘बिलकुल सही बात, हिंदुस्तान में रहकर सनातन को नीचा दिखाना महंगा पड़ गया..!!’ सचिन शर्मा ने लिखा, ‘बिल्कुल सही कहा आपने आचार्य जी , जो सनातन को मिटाने की कोशिश करेगा वह खुद मिट जाएगा।’ आदित्य आनंद ने लिखा, ‘आप भी उसी नांव पर बैठे हैं और कुछ नहीं कर रहे, कहीं न कहीं आप भी जिम्मेदार हैं।’

एक ने लिखा, ‘कांग्रेस और उसके नेताओं ने प्रधानमंत्री के लिए अपशब्दों का प्रयोग किया, इससे जनता एकजुट हो गई।’ विपिन पटेल ने लिखा, ‘अच्छा जी आ गए अपनी असली रुप में, टाईम देख कर रंग बदलते हो।’ एसपी शर्मा ने लिखा, ‘यही होता है जब आप हिंदू के मुद्दे को कार्ड और अलपसंख्य के तुष्टि करण को गारंटी कहते हैं।’